पप्पू यादव ने 'भारत बंद' का समर्थन किया, 23 दिसंबर से शुरू करेंगे किसान मजदूर बेरोजगार यात्रा

पप्पू यादव  ने 8 दिसंबर के भारत बंद का समर्थन किया है,(फाइल फोटो)

पप्पू यादव ने 8 दिसंबर के भारत बंद का समर्थन किया है,(फाइल फोटो)

पप्पू यादव ने कहा कि देश में अभी का समय हिटलर और मुसोलिनी के राज की याद दिलाता है. अभी पूरा देश हाउस अरेस्ट है. अभी देश के किसानों के साथ, बिहार की जनता के साथ जो हुआ, वह अन्याय है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:

पटना. केंद्र सरकार (central government) के नए कृषि कानून (New agricultural law) के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन की आग अब अन्य राज्यों में भी सुलगने लगी है. बिहार में अब जन अधिकार पार्टी (JAP) के प्रमुख पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने किसानों के भारत बंद (Bharat band) का पूरी तरह समर्थन किया है. उनका कहना है कि हमारी पार्टी किसानों के 8 दिसंबर को बुलाए गए भारत बंद का पूरी तरह समर्थन करेगी.

उन्होंने कहा कि देश में अभी का समय हिटलर और मुसोलिनी के राज की याद दिलाता है. अभी पूरा देश हाउस अरेस्ट है. अभी देश के किसानों के साथ, बिहार की जनता के साथ जो हुआ, वह अन्याय है. उन्होंने कहा कि वह जल्द ही किसान मजदूर बेरोजगार यात्रा पर निकलेंगे. उनकी यह यात्रा 23 दिसंबर से चंपारण से शुरू होगी. उन्होंने दावा किया कि उन्होंने ही किसान आंदोलन की शुरुआत की है. भाजपा नेताओँ ने तब मेरे कार्यकर्ताओं को मारा था.

अखिलेश यादव हिरासत में

इस बीच खबर है कि यूपी में किसान आंदोलन के समर्थन में सोमवार को कन्नौज में होने वाली किसान यात्रा (Kisan Yatra) से पहले ही पुलिस ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को हिरासत में ले लिया है. पुलिस ने धारा-144 के उल्लंघन में अखिलेश यादव पर कार्रवाई की है. फिलहाल पुलिस सपा प्रमुख अखिलेश यादव को हिरासत में लेकर ईको गार्डन गई है. इससे पहले उनको निजी आवास पर नजरबंद (House Arrest) कर दिया गया था.
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर कहा है कि आज वह कन्नौज आने वाले थे. लेकिन लखनऊ पुलिस ने उनको उनके घर में ही नजरबंद कर दिया. उनकी सरकारी गाड़ी भी अपने कब्जे में ले ली. अखिलेश यादव का आरोप है कि उन्हें अलोकतांत्रिक तरीके से रोका गया है. अखिलेश ने लोकसभा अध्यक्ष से कहा है कि पूरे मामले में तत्काल हस्तक्षेप कर लोकतांत्रिक गतिविधियों को संपन्न करने में मदद करें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज