बिहार: बिना फेस मास्क पहने पार्क व पटना चिड़ियाघर में नहीं मिलेगी एंट्री, थूके तो प्रशासन करेगा ये काम

बिना मास्क पहने पार्क व पटना जू में नहीं मिलेगा प्रवेश
बिना मास्क पहने पार्क व पटना जू में नहीं मिलेगा प्रवेश

चिड़ियाघर (Zoo) में फिलहाल सिर्फ 5.30 बजे से 10.30 बजे तक मॉर्निग वॉक की अनुमति होगी, वहीं पार्क सुबह 5.30 बजे से 10 बजे तक और शाम में अपराह्न् 3 से शाम 6 बजे तक खुलेंगे.

  • Share this:
पटना. अनलॉक 1 (Unlock 1) के तहत आज से आम लोगों के लिए पटना का चिड़ियाघर खुल गया है.  मिली जानकारी के अनुसार सुबह 5.30  से 10. 30 बजे पूर्वाह्न तक ही लोग घूम सकेंगे. इसके साथ ही कई और निर्देश भी जारी किए गए हैं. पटना जू के निदेशक अमित कुमार (Amit Kumar director of Patna Zoo) के जारी निर्देश के तहत केवल वनस्पति प्रक्षेत्र में घूमने की अनुमति होगी. खांसी, बुखार और जुकाम नहीं होने पर ही प्रवेश दिया जाएगा. इसके साथ ही फेस मास्क (Face mask) लगाना भी अनिवार्य होगा. इसके साथ ही पटना के राजधानी वाटिका सहित सभी पार्क भी खुल जाएंगे.

इस बाबत वन एवं पर्यावरण विभाग ने आदेश जारी कर दिया है. चिड़ियाघर में फिलहाल सिर्फ 5.30 बजे से 10.30 बजे तक मॉर्निग वॉक की अनुमति होगी, वहीं पार्क सुबह 5.30 बजे से 10 बजे तक और शाम में अपराह्न् 3 से शाम 6 बजे तक खुलेंगे. अभी पार्को में 65 वर्ष से अधिक के बुजुर्गो एवं 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का प्रवेश वर्जित रहेगा.  गर्भवती महिलाओं को भी पार्क में प्रवेश की इजाजत नहीं होगी. गंभीर रोग से पीड़ित व्यक्ति के भी प्रवेश पर रोक रहेगी.

जानकारी के अनुसार अगर कोई व्यक्ति मास्क पहनकर नहीं पहुंचता है और उसे पार्क में जाने की इच्छा होगी तो इसके लिए गेट के पास ही पार्क प्रशासन फेस मास्क की बिक्री करेगा. जिनके पास नहीं होगा वे प्रवेश से पहले इन्हें खरीद सकते हैं.



मंगलवार को पार्को के खुलने के बाद इन्हें नियमित रूप से सैनिटाइज भी किया जाएगा. इनमें काम करने वाले सभी कर्मी फेस मास्क लगाए रहेंगे. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पार्क प्रशासन अपने स्तर से हर संभव प्रयास करेगा. वर्तमान में राजधानी पटना में में 73 पार्क हैं.
वहीं जारी निर्देश के अनुसार पटना चिड़ियाघर में घूमने के लिए रास्ते बनाए गए हैं दर्शकों को उन्हीं रास्तों पर चलना होगा. इसके साथ ही पान मसाला, गुटखा और तंबाकू चबाकर इधर-उधर थूकना मना है ताकि संक्रमण न फैल सके. अगर कोई थूकते हुए पाया जाएगा तो उसे तत्काल बाहर किया जा सकता है. बच्चों और बुजुर्गो को भ्रमण से बचना होगा.

ये भी पढ़ें


Bihar COVID 19 Update: कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 5247, पटना में सबसे अथिक संक्रमित




...तो जलजमाव में पटनावासियों की सेवा करने का 'मेवा' चाहते हैं पप्पू यादव! जानें JAP लीडर का खास प्लान

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज