IRCTC घोटाला: तेजस्वी की याचिका पर फैसला सुरक्षित, 23 जुलाई को फैसला

बिहार के तेजस्वी यादव की तरफ से अर्जी लगाकर ईडी के मामले चल रहे ट्रायल पर रोक लगाने की मांग की गई है. मंगलवार को कोर्ट में पेशी के दौरान तेजस्वी ने कहा कि जब तक सीबीआई के मामले में चल ट्रायल पर आदेश नहीं आता है, तब तक ईडी आरोपों पर बहस न करें.

News18 Bihar
Updated: July 9, 2019, 5:19 PM IST
IRCTC घोटाला: तेजस्वी की याचिका पर फैसला सुरक्षित, 23 जुलाई को फैसला
IRCTC होटल आवंटन मामले में तेजस्वी की याचिका पर 23 जुलाई को आएगा फैसला
News18 Bihar
Updated: July 9, 2019, 5:19 PM IST
आईआरसीटीसी होटल आवंटन मामले में बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की अर्जी पर पटियाला हाउस कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है. कोर्ट अब इस पर 23 जुलाई को फैसला सुनाएगा. उस दिन कोर्ट अपने फैसले में यह तय करेगा कि जब तक सीबीआई के दाखिल मामले में आरोप तय नहीं हो जाते तब तक ईडी के मामले में आरोप तय हो सकते हैं या नहीं. बता दें, ईडी ने यह केस सीबीआई की एफआईआर पर दर्ज किया था.

तेजस्वी ने की थी ED मामले पर रोक की मांग 
गौरतलब है कि बिहार के तेजस्वी यादव की तरफ से अर्जी लगाकर ईडी के मामले पर चल रहे ट्रायल पर रोक लगाने की मांग की गई है. मंगलवार को कोर्ट में पेशी के दौरान तेजस्वी ने कहा कि जब तक सीबीआई के मामले में चल रहे ट्रायल पर आदेश नहीं आता है, तब तक ईडी आरोपों पर बहस न करे.

ट्रायल पर कोर्ट ने लगा रखी है रोक

आपको बता दें कि आईआरसीटीसी केस में सीबीआई द्वारा दर्ज मामले में चल रहे ट्रायल पर कोर्ट ने रोक लगा रखी है. इस मामले में सीबीआई और ईडी, दोनों एजेंसियां अलग-अलग जांच कर रही हैं. इस केस में लालू यादव, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत कई आरोपी हैं. कोर्ट से इन लोगों को फिलहाल जमानत मिली हुई है.

ईडी ने लालू प्रसाद यादव, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री प्रेमचंद्र गुप्ता, उनकी पत्नी सरला गुप्ता और तत्कालीन एमडी बीके अग्रवाल के अलावा अन्य लोगों को आरोपी बनाया है.


राबड़ी देवी नहीं हुईं पेश
Loading...

बता दें कि मंगलवार को बिहार की पूर्व सीएम और इस मामले में आरोपी राबड़ी देवी को भी कोर्ट में पेश होना था, लेकिन तबियत खराब होने की वजह से वह पेश नहीं हो सकीं. बता दें कि आईआरसीटीसी होटल आवंटन मामले में सीबीआई के बाद ईडी ने पटियाला हाउस कोर्ट में लालू प्रसाद यादव एंड फैमिली के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था. चार्जशीट में ईडी ने कई अहम सबूत की बात कही थी.

लालू को मिल चुकी है जमानत
बता दें कि इस मामले में लालू प्रसाद यादव को बीते जनवरी में ही जमानत मिल चुकी है. वहीं तेजस्वी और राबड़ी देवी को कोर्ट ने 6 दिसंबर को ही अंतरिम जमानत दे दी थी.

ये है मामला
साल 2004 से 2009 के बीच लालू रेल मंत्री रहे थे उस समय रांची और पुरी में भारतीय रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) के दो होटलों के आवंटन अनुबंध में कथित अनियमितताएं पाई गई थी. CBI के आरोप के मुताबिक, नियम-कानून को ताक पर रखते हुए रेलवे का यह टेंडर विनय कोचर की कंपनी मेसर्स सुजाता होटल्स को दे दिए गए थे. ED भी इस मामले की जांच कर रही है.

लालू यादव और उनके करीबियों पर आरोप
चार्जशीट में ईडी ने लालू प्रसाद यादव, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री प्रेमचंद्र गुप्ता, उनकी पत्नी सरला गुप्ता और तत्कालीन एमडी बीके अग्रवाल के अलावा अन्य लोगों को आरोपी बनाया है.

इनपुट- सुशील कुमार पांडे

ये भी पढ़ें-


शेल्टर होम केस: 'निर्देश' NGO के ऑफिस पर CBI की रेड, TISS रिपोर्ट में आया था नाम




INDvsNZ: टीम इंडिया की जीत के लिए पटना में हो रहा हवन-पूजन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 4:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...