• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार कांग्रेस की बैठक में नए प्रभारी के सामने फेंकी गई कुर्सियां, हुई मारपीट, देखें Video

बिहार कांग्रेस की बैठक में नए प्रभारी के सामने फेंकी गई कुर्सियां, हुई मारपीट, देखें Video

कांग्रेस का नया बिहार प्रभारी नियुक्त होने के बाद भक्त चरण दास तीन दिन के दौरे पर पटना में हैं (फोटो साभार: ANI)

कांग्रेस का नया बिहार प्रभारी नियुक्त होने के बाद भक्त चरण दास तीन दिन के दौरे पर पटना में हैं (फोटो साभार: ANI)

मंगलवार को पटना स्थित सदाकत आश्रम (Sadakat Ashram) में कांग्रेस कार्यालय में प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास (Bhakta Charan Das) की अध्यक्षता में बैठक में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में मिली हार के कारणों और टिकटों के वितरण मुद्दे पर चर्चा हो रही थी. इस दौरान दो गुटों के नेता आपस में भिड़ गए. उन्होंने जमकर बवाल काटा और एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकी

  • Share this:
    पटना. बिहार कांग्रेस (Bihar Congress) में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. कांग्रेस का नया राज्य प्रभारी बनने के बाद भक्त चरण दास (Bhakta Charan Das) पटना पहुंचे तो उन्हें पार्टी के अंदर चल रही गुटबाजी और अंतर्कलह का सामना करना पड़ा. मंगलवार को सदाकत आश्रम (Sadakat Ashram) स्थित पार्टी दफ्तर में प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास की अध्यक्षता में बैठक में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में मिली हार के कारणों और टिकटों के वितरण मुद्दे पर चर्चा हो रही थी. इस दौरान बागी नेताओं में शामिल राजकुमार राजन को बोलने से रोकने का प्रयास किया गया तो पार्टी के दो गुटों के नेता आपस में भिड़ गए. इस दौरान नेताओं ने जमकर बवाल काटा और एक-दूसरे पर कुर्सियां फेंकी.

    पहले दौर की बैठक शुरू होते ही किसान नेता राजकुमार राजन ने पार्टी के प्रदेश नेतृत्व पर मनमानी करने और चुनाव में टिकट बेचने को लेकर आरोप लगाया. उन्होंने बोलना शुरू ही किया था कि कई नेताओं ने उनका विरोध करना शुरू कर दिया. प्रभारी भक्त चरण दास यह सब होता चुपचाप देखते रहे. राजकुमार राजन लोगों के लगातार रोकने की कोशिशों के बावजूद बोलते जा रहे थे. जिसके बाद पार्टी के कुछ नेता उन्हें ललकारते हुए उनकी ओर बढ़े तो बागी खेमे के नेता भी सामने आ गए. पार्टी के दोनों गुटों के बीच धक्का-मुक्की शुरू ही गई, नेताओं ने एक-दूसरे पर कुर्सियां भी फेंकी.



    सोमवार को भी बैठक में बिहार कांग्रेस प्रभारी के सामने हुई थी अनुशासनहीनता

    सोमवार को भी भक्त चरण दास के सामने ऐसी ही स्थिति बनी थी जब पूर्व एमएलसी लालबाबू लाल ने पूर्व प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल के कामों को गिनाना शुरू किया था और उनकी तारीफ करने लगे. यह सुनते ही वहां मौजूद कई नेता भड़क गए. वहीं पार्टी के पूर्व विधायक संजीव प्रसाद टोनी अपनी कुर्सी से उठ खड़े हुए और उन्होंने जोर-जोर से बोलकर हंगामा किया. बवाल बढ़ने पर बैठक हाल में पुलिस घुस आई लेकिन भक्त चरण दास ने उनसभी को बाहर जाने को कहा था.

    बता दें कि अक्टूबर-नंवबर 2020 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था. पार्टी ने 70 सीटों पर चुनाव लड़ा था लेकिन उसे महज 19 पर ही जीत हासिल हुई थी. यह वर्ष 2015 के चुनाव में उसे प्राप्त सीटों की संख्या से भी आठ कम थी. कांग्रेस ने आरजेडी और वाम दलों के साथ मिलकर महागठबंन में चुनाव लड़ा था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज