सुर्खियां: कोसी पर फोर लेन पुल, आंधी-तूफान में मरने वालों के आश्रितों को मिलेंगे चार लाख

केंद्र सरकार ने बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार को आश्वस्त किया है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ गैर रैयतों को भी दिया जाएगा.

News18 Bihar
Updated: June 14, 2019, 7:55 AM IST
सुर्खियां: कोसी पर फोर लेन पुल, आंधी-तूफान में मरने वालों के आश्रितों को मिलेंगे चार लाख
नंदकिशोर यादव ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की
News18 Bihar
Updated: June 14, 2019, 7:55 AM IST
केन्द्र सरकार ने कई सड़क योजनाओं को मंजूरी देकर राज्यवासियों को बड़ा तोहफा दिया है. बिहार पथ और पुल निर्माण की कई योजनाओं को केंद्र सरकार से मिली सहमति के तहत पटना में गंगा नदी पर महात्मा गांधी सेतु के सामानांतर फोर लेन पुल का 15 दिनों के भीतर टेंडर जारी हो जाएगा. यह पुल 2900 करोड़ की लागत से बनने जा रहा है.

फुलौत घाट पर बनेगा फोर लेन पुल


इसके अलावा कोसी नदी के फुलौत घाट पर फोर लेन पुल का टेंडर अगस्त महीने में होगा. 1700 करोड़ की लागत से बनने वाले इस पुल से भागलपुर के बिहपुर और सुपौल के वीरपुर के बीच कनेक्टिविटी स्थापित होगी.

विक्रमशिला सेतु के समानांतर बनेगा पुल

वहीं भागलपुर में विक्रमशिला के सामानांतर फोर लेन पुल के साथ आरा-मोहनिया फोर लेन रोड और दिघवारा-शेरपुर के बीच गंगा नदी पर पुल निर्माण की सहमति भी मिली है. दैनिक हिन्दुस्तान ने इस खबर को अपनी लीड स्टोरी बनाई है.

गैर रैयतों को भी पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ
केंद्र सरकार ने बिहार के कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार को आश्वस्त किया है कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ गैर रैयतों को भी दिया जाएगा. किंतु यह काम दूसरे चरण से शुरू होगा.
Loading...

बिहार सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता डॉ. प्रेम कुमार ने यह मांग गुरुवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान की थी, जिस पर केंद्रीय कृषि सचिव ने आश्वासन दिया.

आंधी-तूफान में मरने वालों के आश्रितों को चार लाख
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आंधी-तूफान और वज्रपात से राज्य के लोगों की हुई मौत पर आश्रितों को चार-चार लाख रुपये की अनुग्रह राशि दिए जाने का निर्देश दिया है.

आपदा प्रबंधन विभाग को दिए गए इस निर्देश के तहत पिछले तीन दिनों के अंदर समस्तीपुर में एक, पूर्वी चंपारण में तीन और पटना और नालंदा में पांच-पांच लोगों की मौत इस आपदा में हो गई है, उन्हें लाभ मिलेगा.

सत्र सुधारें कुलपति वरना पद छोड़ें
बिहार के राज्यपाल सह कुलाधिपति लालजी टंडन ने गुरुवार को राजभवन में कुलपतियों की बैठक में निर्देश दिया कि जुलाई में हर विश्वविद्यालय में नया सत्र आरंभ हो जाना चाहिए.

टंडन ने कुलपतियों को हिदायत दी कि विकास की प्रक्रिया और गति के साथ जो खुद को नहीं जोड़ पायेंगे, उन्हें पद पर बने रहने का हक नहीं है. जिन्होंने आशाओं के अनुरूप रिजल्ट नहीं दिया, उन्हें पद छोड़ना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें- बिहार बोर्ड का एकेडमिक कैलेंडर जारी, 2020 फरवरी में होंगे मैट्रिक-इंटर एग्जाम
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...