लाइव टीवी

सुर्खियां: पति-पत्नी को सत्ता दी तो थमा देंगे लालटेन, राहुल ने पटना से मांगा समर्थन

News18 Bihar
Updated: May 17, 2019, 12:50 PM IST

सीएम नीतीश कुमार ने कहा आप लोग सोच लीजिए, 15 वर्ष पहले वाले पति-पत्नी का राज आया तो एक बार फिर से आपके हाथों में लालटेन थमा दिया जाएगा.

  • Share this:
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को पटना साहिब से पार्टी के प्रत्याशी शत्रुघ्न सिन्हा के लिए रोड शो किया. डेढ़ किलोमीटर लंबे रोड शो में भीड़ के उत्साह से अभिभूत राहुल ने पटनावासियों से शत्रुघ्न सिन्हा के लिए समर्थन मांगा. बता दें कि इसी इलाके से 11 मई को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के प्रत्याशी रविशंक प्रसाद के लिए रोड शो किया था. बिहार के सभी प्रमुख अखबारों ने इस खबर को लीड बनाई है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गुरुवार को बिहारशरीफ के सोगरा कॉलेज में चुनावी जनसभा में लालू-राबड़ी का नाम लिए बिना कहा कि आप लोग सोच लीजिए, 15 वर्ष पहले वाले पति-पत्नी का राज आया तो एक बार फिर से आपके हाथों में लालटेन थमा दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- बिहार: राहुल के मंच से तेजप्रताप को नहीं मिला भाषण का मौका

उन्होंने कहा कि उनके शासनकाल में जिन गांवों में बिजली थी, उसे कटवा दिया गया. कटे हुए बिजली के तार पर धोती और कपड़ा सुखाया जाने लगा था. उन्होंने कहा कि सत्ता में आते ही मैंने हर वर्ग के लिए काम किया. आज समाज का कोई तबका ऐसा नहीं बचा, जिसके विकास के लिए मैंने काम नहीं किया.

सीएम नीतीश ने कहा कि बिजली, पानी, सड़क, हर घर नल पहुंचाने का काम किया. केंद्र की मोदी सरकार ने बिजली और सड़कों के लिए बिहार को 50 हजार करोड़ रुपए की मंजूरी दी. एनडीए की सरकार रहने के कारण आज बिहार में विकास पटरी पर है. दैनिक जागरण ने इसे पहले पन्ने पर छापा है.

ये भी पढ़ें- बोले राहुल- नीतीश कुमार ने बिहार को गरीबी का हब बना दिया

बिहार में 17वीं लोकसभा के चुनाव प्रचार का शोर आज शाम थम जाएगा. सातवें चरण में आठ सीटों पर रविवार को मतदान होना है. नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकाट और जहानाबाद संसदीय सीट पर वोट पड़ेंगे. प्रभात खबर और दैनिक जागरण ने इसे प्रथम पृष्ठ पर प्रकाशित किया है.
Loading...

ये भी पढ़ें- बिहार की इस सीट पर नेताओं की किस्मत तय करते हैं कायस्थ

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा में सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए आरक्षण लागू करने की मांग पर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार, सीबीएसई और नेशनल काउंसिल फॉर टीचर्स एजूकेशन (एनसीटीई) को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है.

कोर्ट मामले पर एक जुलाई को फिर सुनवाई करेगा. सीटेट सात जुलाई को होना है. दैनिक जागरण ने इसे पहले पन्ने पर प्रकाशित किया है.

ये भी पढ़ें- बिहार: यादवों के गढ़ में भी बार-बार क्यों हार जाता है लालू परिवार?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 17, 2019, 7:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...