लाइव टीवी

फिर खराब हुई पटना की हवा, दिल्ली का रिकॉर्ड टूटा

Rajneesh Kumar | News18 Bihar
Updated: November 24, 2019, 8:46 AM IST
फिर खराब हुई पटना की हवा, दिल्ली का रिकॉर्ड टूटा
वायु प्रदूषण से बचने के लिए मास्क लगाकर ड्यूटी करते पटना पुलिस के जवान

वायु प्रदूषण (Air Pollution) की वजह से ना सिर्फ लोगों को घुटन महसूस हो रहा है बल्कि मरीजों (Patient) की संख्या में भी खासा इजाफा देखी जा रही है. प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ एके झा मानते हैं कि यह चिंता का विषय है क्योंकि अब सीधा वायु प्रदूषण जानलेवा साबित हो रहा है.

  • Share this:
पटना. वायु प्रदूषण (Air Pollution) के मामले में पटना (Patna) ने दिल्ली (Delhi) को पीछे छोड़ दिया है. शनिवार की दोपहर एक बजे तक जहां पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स (Air Quality Index) 400 पर पहुंच गया वहीं शाम 5 बजे तक एयर क्वालिटी इंडेक्स 404 तक पहुंच गया, जबकि दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स 351 पर ही था.

हर तीसरा आदमी लगा रहा मास्क

प्रदूषण की वजह से राजधानीवासियों को ना तो स्वच्छ हवा मिल पा रही है और ना ही खुले में सांस ले पा रहे हैं. सड़कों पर हर तीसरा आदमी मास्क लगाकर सफर करता नजर आ रहा है क्योंकि पिछले एक माह से लोग घुटन महसूस कर रहे हैं और एयर क्वालिटी में कोई सुधार नहीं हो पा रहा है. प्रदूषण के बढते स्तर को कम करने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने जल जीवन हरियाली की भी शुरूआत कर दी है और पूरे बिहार में जागरूकता अभियान भी चलाए जा रहे हैं लेकिन प्रदूषण के स्तर में फिलहाल कहीं से गिरावट होती नजर नहीं आ रही है.

इन रोगों का बढ़ा खतरा

वायु प्रदूषण की वजह से ना सिर्फ लोगों को घुटन महसूस हो रहा है बल्कि मरीजों की संख्या में भी खासा इजाफा देखी जा रही है. प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ एके झा मानते हैं कि यह चिंता का विषय है क्योंकि अब सीधा वायु प्रदूषण जानलेवा साबित हो रहा है और हृदय रोगियों के अलावे साइनस और टीबी के मरीजों पर बुरा असर पड़ रहा है. प्रदूषण की वजह से सभी दवा दुकानों में मास्क की भी तेजी से बिक्री हो रही है और लोग घरों में भी एयर प्यूरीफाईर मशीन लगा रहे हैं.

एयर प्यूफाइर की मांग बढ़ी

राजधानी के इलेक्ट्रॉनिक शो रूमों में इन दिनों सबसे ज्यादा बिक्री एयर प्यूफाइर मशीनों की ही हो रही है. 12 हजार से लेकर 30 हजार तक में लोग मशीन खरीद रहे हैं. ग्रीन सिटी का सपना देख रही सरकार और आम लोगों के लिए यह वक्त किसी चुनौती से कम नहीं है क्योंकि भी 15 साल पुरानी गाड़ियों की पकड़ धकड़ के बाद भी पटना में आसमान साफ नजर नहीं आ रहा है और बीमारियां भी बढ़ती जा रही हैं.
Loading...

विभाग बोला

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष डॉ अशोक घोष की मानें तो पटना में प्रदूषण के स्तर में कमी के बजाय वृद्धि ही होती जा रही है और 10 से 50 एयर इंडेक्स तक अप एंड डाउन देखी जा रही है. पटना में प्रदूषण को लेकर सरकार की बात करें तो डिप्टी सीएम सह प्रदेश के पर्यावरण मंत्री सुशील कुमार मोदी (Deputy CM Sushil Modi) का मानना है कि पिछले 3 साल में इस स्थिति में सुधार आया है. ऐसे में पटनावासियों को डरने की जरूरत नहीं है. उन्होंने यह रिपोर्ट तैयार करने वालों को सलाह भी दी कि लोगों को डराएं नहीं, बल्कि वैज्ञानिक तरीके से रिपोर्ट तैयार करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 8:46 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...