Home /News /bihar /

पटना: अंजुमन इस्लामिया हॉल पर CM नीतीश के निर्णय से सहयोगी BJP नाखुश, रखी यह मांग...

पटना: अंजुमन इस्लामिया हॉल पर CM नीतीश के निर्णय से सहयोगी BJP नाखुश, रखी यह मांग...

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में 50 करोड़ रुपये की लागत से अंजुमन इस्लामिया हॉल निर्माण जल्द पूरा करने का आदेश दिया है (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में 50 करोड़ रुपये की लागत से अंजुमन इस्लामिया हॉल निर्माण जल्द पूरा करने का आदेश दिया है (फाइल फोटो)

Bihar News: नीतीश सरकार में सहयोगी बीजेपी के कोटे से मंत्री नीरज कुमार बबलू ने यह मांग उठाई कि जब पटना में अंजुमन इस्लमिया हॉल जैसे भवन का निर्माण कराया जा रहा है, हज भवन का निर्माण कराया गया है तो फिर राम कृष्ण भवन का निर्माण क्यों नहीं करवाया जा रहा है

अधिक पढ़ें ...

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक कर यह निर्देश दिया कि पटना में 50 करोड़ से ज्यादा की लागत से बन रहे अंजुमन इस्लमिया हॉल (Anujman Islamia Hall) का निर्माण जल्द से जल्द पूरा किया जाए. साथ ही कहा कि राज्य के सभी जिले में वक़्फ़ बोर्ड (Waqf Board) की बहुउद्देशीय भवनों का निर्माण कराया जाये ताकि लोग इसका उपयोग कर सकें. मुख्यमंत्री के इस निर्देश के बाद उनकी सहयोगी पार्टी बीजेपी में इसको लेकर विरोध के सुर उभरे हैं.

नीतीश सरकार (Nitish Government) में सहयोगी बीजेपी के कोटे से मंत्री नीरज कुमार बबलू (Neeraj Kumar Bablu) ने यह मांग उठाई कि जब यहां अंजुमन इस्लमिया हॉल जैसे भवन का निर्माण कराया जा रहा है, हज भवन का निर्माण कराया गया है तो राजधानी पटना में राम कृष्ण भवन का निर्माण क्यों नहीं करवाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बिहार में कहीं भी राम और कृष्ण के नाम पर ऐसे भवन का निर्माण नहीं करवाया गया है जहां हिंदू धर्म के अनुयायी या फिर हिंदू छात्र-छात्राएं वहां आकर रह सकें. उन्होंने कहा कि पटना में ऐसे भवन की सख्त आवश्यकता है, इसलिए जल्द से जल्द ऐसे भवन का निर्माण कराया जाए.

वहीं, बीजेपी के ही एक अन्य विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि बिहार में तुष्टिकरण की सियासत होती रही है. जब पटना में हज भवन और अंजुमन इस्लमिया हॉल का निर्माण एक धर्म विशेष के लिए हो सकता है तो हिंदू धर्म के लोगों के लिए राम-कृष्ण भवन का निर्माण क्यों नहीं कराया जा रहा है. क्या यह तुष्टिकरण नहीं है. उन्होंने कहा कि पटना में धार्मिक न्यास बोर्ड हो, संस्कृत विद्यापीठ का भवन हो. इनकी हालत जर्जर हो रही है लेकिन इस पर किसी का ध्यान नहीं जा रहा है. बिहार में एनडीए (NDA) की सरकार है. सरकार को जल्द से जल्द पटना में राम कृष्ण भवन का निर्माण कराना चाहिए.

बिहार सरकार में मंत्री नीरज कुमार बबलू और बीजेपी के विधायक हरिभूषण ठाकुर बचौल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना में राम-कृष्ण भवन निर्माण की मांग की है (फाइल फोटो)

JDU कोटे से सरकार में मंत्री ने मुख्यमंत्री के निर्णय किया बचाव

बीजेपी नेताओं की मांग पर राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री जमां खान ने कहा कि किसको एतराज है ऐसे निर्माण से. लेकिन सिर्फ कहने भर से नहीं होगा न, मुख्यमंत्री के सामने ऐसे मांग को लाना चाहिए. पटना में किसी भी धर्म के लोगों के लिए भवन निर्माण हो, इसमें किसी को एतराज नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बिहार में अल्पसंख्यक समाज काफी पीछे है और उनके विकास के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काम कर रहे हैं, इसलिए ऐसे भवन का निर्माण करा रहे हैं ताकि पिछड़े समाज (मुस्लिम) के लोग पढ़ाई कर सकें, दूसरे कार्य कर सकें.

वहीं, जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के एमएलसी गुलाम रसूल बलियावी ने बीजेपी नेताओं की मांग पर कहा कि मांग करिए, किसी को क्या एतराज हो सकता है. लेकिन जिस अंजुमन इस्लमिया हॉल की चर्चा बीजेपी के लोग कर रहे हैं उन्हें यह भी पता होना चाहिए कि उसी हॉल में बीजेपी के लोगों ने इफ़्तार का आयोजन किया था.

Tags: Bihar politics, CM Nitish Kumar, Neeraj kumar, Nitish Government

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर