CM नीतीश ने कोरोना को लेकर की मैराथन बैठक, बीमारी के खिलाफ लिए कई महत्वपूर्ण फैसले 

सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना संकट पर मंगलवार को अपने आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाई लेवल मीटिंग की

सीएम नीतीश कुमार ने कोरोना संकट पर मंगलवार को अपने आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हाई लेवल मीटिंग की

सीएम नीतीश (CM Nitish) ने यह भी जानकारी दी कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से ऑक्सीजन (Oxygen) को लेकर उनकी सकारात्मक बातचीत हुई है. ओडिशा के मुख्यमंत्री ने यह आश्वासन दिया है कि उनका राज्य बिहार की पूरी मदद करेगा. साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि केंद्र से भी पूरी मदद मिल रही है. लेकिन इसके बावजूद बिहार को अपने स्तर पर भी तैयारी करनी होगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 11:18 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने मंगलवार को अपने सरकारी आवास एक अणे मार्ग में उच्चस्तरीय बैठक की. इस बैठक में वीडियो कान्फ्रेंसिंग (VC) के जरिए सभी जिलाधिकारियों, स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव, उपमुख्य मंत्री तारकिशोर प्रसाद सहित कई वरीय अधिकारी भी जुड़े. बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए. बैठक में यह तय हुआ कि बुधवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप (Crisis Management Group) की महत्वपूर्ण बैठक होगी, इसमें तमाम जिलों के DM और SP से मिले फीडबैक के साथ-साथ वर्तमान हालात पर चर्चा होगी और उसके आधार पर कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए जो भी आवश्यक कदम होगा उसे उठाया जाएगा.

सीएम नीतीश कुमार ने यह भी जानकारी दी कि ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से ऑक्सीजन को लेकर उनकी सकारात्मक बातचीत हुई है. ओडिशा के मुख्यमंत्री ने यह आश्वासन दिया है कि उनका राज्य बिहार की पूरी मदद करेगा. साथ ही मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि केंद्र से भी पूरी मदद मिल रही है. लेकिन इसके बावजूद बिहार को अपने स्तर पर भी तैयारी करनी होगी.

पांच घंटे से ज्यादा चली इस बैठक में सीएम नीतीश ने कुछ महत्वपूर्ण फैसले और निर्देश दिए जो इस तरह से हैं...

- IGIMS अस्पताल को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल बनाने का निर्देश दिया गया
- कोरोना संक्रमण से जूझ रहे लोगों को किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े, ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ-साथ उनका विशेष ख्याल रखा जाए.

- लोगों से अपील की गई है कि सभी लोग सक्रिय रहेंगे और नियंत्रित रहेंगे. साथ ही मूवमेंट कम होगा तो कोरोना संक्रमण का फैलाव भी कम होगा

- एक मई से 18 वर्ष से लेकर 44 साल तक के लोगों का मुफ्त टीकाकरण करवाया जाएगा. टीकाकरण की पूरी तैयारी ठीक से हो इसके लिए अधिकारियों को उचित निर्देश दिया गया



- स्वास्थ विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि सभी जिलों के डीएम से एक दिन बीच कर के कोरोना संक्रमण के हालात की जानकारी लें और और उसके हिसाब से उचित कदम उठाएं

- राज्य के ग्रामीण इलाकों पर विशेष नजर रखें और कोरोना पेशेंट का इलाज बेहतर तरीके से हो इसका ख्याल रखा जाए.

- ग्रामीण इलाकों में माइकिंग के जरिए लोगों को जागरुक किया जाए ताकि लोग संक्रमण से बचाव कर सकें और उनमें जागरुकता फैले.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज