Home /News /bihar /

पटना में होगी टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी की बेटी के तलाक केस पर सुनवाई

पटना में होगी टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी की बेटी के तलाक केस पर सुनवाई

Getty Images

Getty Images

पटना के फैमिली कोर्ट में एक ऐसा केस आया है, जो है तो दिल्ली का, जिसकी सुनवाई की मांग कोलकाता में हुई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को पटना फैमिली कोर्ट ट्रांसफर कर दिया है.

    पटना के फैमिली कोर्ट में एक ऐसा केस आया है, जो है तो दिल्ली का, जिसकी सुनवाई की मांग कोलकाता में हुई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को पटना फैमिली कोर्ट ट्रांसफर कर दिया है. साथ ही इसे दो महीनों में रिपोर्ट देने का आदेश भी दिया गया है.

    श्रीरामपुर से टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी के दामाद कबीर शंकर बोस का आरोप है कि उनके ससुर उन्हें प्रताड़ित करते हैं. साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि उनके ससुराल में उन्हें कभी भी दामाद का दर्जा तक नहीं मिला है. कबीर ने अपने सांसद ससुर पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने हमारे शादीशुदा जीवन को नर्क बना दिया है और उनकी शादी भी टूट गई.

    कबीर और टीएमसी सांसद की बेटी परमीती दिल्ली कोर्ट में वकालत करते थे. दोनों में प्यार हुआ और उन्होंने 2010 में शादी कर ली. कबीर का आरोप है कि 'सगाई होते ही सांसद का हस्तक्षेप उनकी जीवन में शुरु हो गया था. शादी के बाद उनके साथ नौकरों जैसा व्यवहार किया जाता था. कभी भी उन्हें अपने ससुराल में दामाद का दर्जा नहीं मिला. समय के साथ उनकी पत्नी का व्यवहार भी बदलता गया और 2015 में परमीती बच्चे के साथ कबीर का घड़ छोड़ दी.'

    जब तलाक की अपील की गई तब कबीर ने अपनी जान का खतरा बताते हुए दिल्ली में ही सुनवाई की मांग की लेकिन परमीती ने इसकी सुनवाई कोलकता में करने की मांग की. सुप्रीम कोर्ट ने इस केस की अहमियत को देखते हुए मामले को पटना फैमिली कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया है. साथ ही दो महीने के अंदर पूरा कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया गया.

    पटना के वकील बताते हैं कि ऐसा रेयरेस्ट ऑफ दे रेयर केस में होता है. टीएमसी के इसी सांसद ने पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपश्बद का प्रयोग किया था.

    Tags: Supreme court of india

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर