• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • CM नीतीश कुमार को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत, अब नहीं चलेगा हत्‍या का मामला

CM नीतीश कुमार को हाईकोर्ट से मिली बड़ी राहत, अब नहीं चलेगा हत्‍या का मामला

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

16 नवंबर, 1991 में लोकसभा चुनाव के दौरान पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल के पंडारक थानांतर्गत सीताराम सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में अन्य आरोपियों के साथ नीतीश कुमार के विरुद्ध दायर मामला दर्ज किया गया था.

  • Share this:
    पटना हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बड़ी राहत देते हुए उनके विरुद्ध चल रहे हत्या के मामले को रद्द कर दिया है. बता दें कि बीते 31 जनवरी को जस्टिस ए. अमानुल्लाह ने मामले पर सभी पक्षों की दलीलें सुनी थीं. इसके बाद निर्णय सुरक्षित रख लिया था. आपको बता दें कि वर्ष 1991के पंडराक हत्याकांड  केस में अपने विरुद्ध दायर मामले को रद्द करने के लिए नीतीश कुमार ने ये याचिका दायर की थी. इस फैसले के बाद 28 साल पुराने पंडारक हत्या मामले में अब उन पर कोई मामला नहीं चलेगा.

    आपको बता दें कि 16 नवंबर, 1991 में  लोकसभा चुनाव के दौरान पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल के पंडारक थानांतर्गत सीताराम सिंह की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में  अन्य आरोपियों के साथ सीएम नीतीश कुमार के विरुद्ध दायर मामला दर्ज किया गया था.

    ये भी पढ़ें- BJP के सर्वे ने बढ़ाई सरगर्मी, फिर चुनावी मैदान में ताल ठोक सकते हैं पासवान

    पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल में स्थित पंडारक थाना में 16, नवंबर 1991 को दर्ज  प्राथमिकी में बाढ़ के तत्कालीन ACJM एक 2009 में दायर परिवाद पत्र के आधार पर नीतीश कुमार के विरुद्ध संज्ञान लिया था. इसी केस को रद्द कराने के लिए नीतीश कुमार ने 2009 में ही पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.

    बहरहाल, ये फैसला मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ एनडीए के लिए राहत की खबर है. क्योंकि तेजस्वी यादव अक्सर इस मुद्दे को लेकर सीएम को घेरते रहे हैं.

    इनपुट- आनंद वर्मा

    ये भी पढ़ें-  लोकसभा चुनाव 2019: क्या उजियारपुर से दोबारा जीत पाएंगे नित्यानंद राय?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज