• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • पटना हाईकोर्ट का अहम फैसला: परिवार का एक व्यक्ति सरकारी नौकरी में तो दूसरे को नहीं मिलेगा अनुकंपा का लाभ

पटना हाईकोर्ट का अहम फैसला: परिवार का एक व्यक्ति सरकारी नौकरी में तो दूसरे को नहीं मिलेगा अनुकंपा का लाभ

पटना हाईकोर्ट ने अनुकंपा पर नौकरी के मामले में अहम फैसला सुनाया है (फाइल फोटो)

पटना हाईकोर्ट ने अनुकंपा पर नौकरी के मामले में अहम फैसला सुनाया है (फाइल फोटो)

Patna High Court Decision: कोर्ट ने अनुकंपा के आधार पर नौकरी से जुड़े मामले में अहम फैसला सुनाते हुए कहा कि अनुकंपा पर नौकरी पाना किसी कर्मी के सदस्य का अधिकार नहीं है. यह व्यवस्था कर्मी की मृत्यु के बाद परिवार में वित्तीय संकट उत्पन्न नहीं हो, इसलिए बनाई गई है.

  • Share this:
    पटना. बिहार के पटना हाईकोर्ट (Patna High Court) ने अपने एक महत्वपूर्ण निर्णय में स्पष्ट किया कि यदि परिवार का एक सदस्य सरकारी नौकरी में है तो परिवार के दूसरे सदस्य को अनुकम्पा पर नौकरी नहीं दी जा सकती है. जस्टिस डॉ अनिल कुमार उपाध्याय ने हरेंद्र कुमार की ओर से दायर याचिका की सुनवाई की. कोर्ट को बताया गया कि आवेदक के पिता पुलिस विभाग में थे. नौकरी में रहने के दौरान उनकी मृत्यु हो गई. पिता की मृत्यु के बाद अनुकंपा के आधार पर सरकारी नौकरी के लिए आवेदक ने विभाग को आवेदन दिया लेकिन विभाग ने उनके आवेदन को नामंजूर कर दिया.

    आवेदन को नामंजूर करने का कारण बताया गया कि परिवार के अन्य सदस्य के सरकारी नौकरी में रहते हुए दूसरे सदस्य की अनुकंपा पर बहाली नहीं की जा सकती. पुलिस विभाग के इस आदेश को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई. इस बीच कोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि चूंकि आवेदक ने भी माना है कि उसका एक भाई पहले से सरकारी नौकरी में हैं, ऐसी स्थिति में आवेदक को अनुकम्पा के आधार पर नौकरी नही दी जा सकती. कोर्ट ने विभाग के निर्णय को सही ठहराते हुए आवेदक की अर्जी को खारिज कर दिया है.

    रिपोर्ट- आनंद वर्मा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज