अदालती आदेश का उल्लंघन पड़ा महंगा, पटना हाईकोर्ट ने मदरसा बोर्ड के चेयरमैन के कार्य करने पर रोक लगाई

News18 Bihar
Updated: September 5, 2019, 4:03 PM IST
अदालती आदेश का उल्लंघन पड़ा महंगा, पटना हाईकोर्ट ने मदरसा बोर्ड के चेयरमैन के कार्य करने पर रोक लगाई
पटना हाईकोर्ट ने अदालती आदेश का पालन नहीं करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बिहार मदरसा बोर्ड के चेयरमैन के कार्य करने पर फिलहाल रोक लगा दिया है.

हाईकोर्ट ने 3 जुलाई, 2019 को बिहार मदरसा बोर्ड के चेयरमैन को बोर्ड की बैठक बुला कर उचित निर्णय लेने का निर्देश दिया था, लेकिन चेयरमैन ने बगैर बोर्ड के बैठक बुलाए ही स्वयं आदेश पारित कर दिया.

  • Share this:
पटना.  हाईकोर्ट  (High Court) ने अदालती आदेश का पालन नहीं करने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए बिहार मदरसा बोर्ड ( Bihar Madarsa Board) के चेयरमैन के कार्य करने पर फिलहाल रोक लगा दिया है. जस्टिस डॉक्टर अनिल कुमार उपाध्याय (Justice Anil Kumar Upadhyay) ने एस एम अली इमाम की दायर रिट याचिका पर सुनवाई करते हुए यह निर्देश दिया. कोर्ट ने मदरसा बोर्ड के चेयरमैन अब्दुल कयूम अंसारी (Abdul Qaiyum Ansari) को इस मामले में 24 सितंबर तक अपना स्पष्टीकरण कोर्ट में दाखिल करने का निर्देश दिया.

चेयरमैन पर अदालती आदेश उल्लंघन का आरोप
मामला अनिस उल धुरबा, बहेरी, दरभंगा के कॉन्स्टिच्यूशन के एप्रूवल का था. हाईकोर्ट ने 3 जुलाई, 2019 को बिहार मदरसा बोर्ड के चेयरमैन को बोर्ड की बैठक बुला कर उचित निर्णय लेने का निर्देश दिया था, लेकिन चेयरमैन ने बगैर बोर्ड के बैठक बुलाए ही स्वयं आदेश पारित कर दिया.

24 सितंबर को मामले की अगली सुनवाई

कोर्ट ने माना कि यह अदालती आदेश का खुला उल्लंघन है और बिहार मदरसा बोर्ड के चेयरमैन के कार्य करने पर फिलहाल रोक लगा दिया. अदालती आदेश का पालन नहीं करने पर बोर्ड चेयरमैन को 24 सितम्बर तक जवाब देने का निर्देश दिया है. इस मामले की अगली सुनवाई 24 सितम्बर को होगी.

इनपुट- आनंद वर्मा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 4:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...