बिहार दिवस पर नीतीश सरकार का बड़ा आयोजन, दुनिया के पहले म्यूजियम बियनाले की मेजबानी कर रहा पटना

पटना का बिहार म्यूजियम (फाइल फोटो)

पटना का बिहार म्यूजियम (फाइल फोटो)

कोरोना के खतरे को ध्यान में रखते हुए इस बार बिहार दिवस पर कार्यक्रमों का आयोजन वर्चुअली किया गया है.

  • Share this:
पटना. 22 मार्य यानी आज बिहार दिवस है. बिहार दिवस के अवसर पर बिहार संग्रहालय समूचे दुनिया में इतिहास रचने वाला है. पूरी दुनिया में बिहार का डंका बजने वाला है. दुनिया के 7 देश और कई राज्यों के संग्रहालय वर्चुअली एक साथ जुड़कर देश-दुनिया का इतिहास, संस्कृति और और अपने ऐतिहासिक धरोहरों का आदान प्रदान करेंगे. ये पहला मौका है जब म्यूजियम बियनाले का आयोजन किया जा रहा है. इस बड़े आयोजन की मेजबानी कर रहा बिहार संग्रहालय बेहद उत्साहित है.

सीएम नीतीश कुमार भी रहेंगे मौजूद

22 मार्च को बिहार दिवस के दिन ही इस बड़े आयोजन की शुरुआत हो रही है. इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी वर्चुअली मौजूद रहेंगे. बिहार संग्रहालय में आयोजित हो रहे इस कार्यक्रम में लोग फिजिकली भी भाग ले सकते हैं, साथ ही इसे ऑनलाइन माध्यम से वर्चुअली दुनिया के कोने-कोने में भी देखा जा सकता है. बियनाले में वर्चुअल टूर के जरिए भारत और दुनिया भर के विभिन्न संग्रहालयों से प्रमुख संग्रहों को देखा जा सकता है.

ये नामचीन हस्तियां होंगी शामिल
सम्मेलन में भारतीय एवं अंतरराष्ट्रीय संग्रहालयों के दिग्गज विशेषज्ञों द्वारा विभिन्न विषयों पर सम्मेलन एवं मास्टर क्लास का भी आयोजन किया जा रहा है. विशेषज्ञों में शामिल चुनिन्दा नाम हैं - नील मैकग्रेगर,  हिलेरी नाइट, डॉक्टर सौराया नौजिम, सब्यसाची मुखर्जी,  डॉ खावियर बारोन ताईदिक्समान इनके अलावा और भी कई लोग हैं.

22 से 28 मार्च तक आयोजन

म्यूजियम बियनाले में कई अंतरराष्ट्रीय संग्रहालयों के साथ-साथ मेजबान बिहार संग्रहालय सहित 13 भारतीय संग्रहालयों से प्रदर्शनियों का प्रदर्शन किया जाएगा. बियनाले में दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के साथ-साथ रचनात्मक उद्योगों के प्रमुख विशेषज्ञों के साथ मास्टर क्लास भी शामिल है जिसमें जर्मनी, फ्रांस, भारत, इटली, स्पेन, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, ब्रिटेन और यूएई सहित कई देशों के विशेषज्ञ बियनाले में शामिल होने वाले हैं.



ये संग्रहालय भी होंगे शामिल

7 दिनों तक चलने वाले इस म्यूजियम बियनाले कार्यक्रम में भारत के कई संग्रहालय भी शामिल हैं. असम राज्य संग्रहालय, बिहार संग्रहालय, सिटी पैलेस संग्रहालय, छत्रपति शिवाजी महाराज ,वास्तु संग्रहालय, मुंबई, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय, भोपाल, कान्हा म्यूजियम ऑफ़ लाइफ़ एंड आर्ट, मध्य प्रदेश, किरण नादर कला संग्रहालय, नई दिल्ली.

मास्टर क्लास का आयोजन

इसके अलावे भी देश के कई हिस्सों के संग्रहालय एक साथ वर्चुअली जुड़ेंगे. कला एंव संस्कृति में रूचि रखने वाले लोगों के लिए एक मास्टरक्लास का भी आयोजन रखा गया है जिसमें उन्हें गहराई से विषयों को समझने एवं उसपर कला और रचनात्मक जगत से जुड़े विशेषज्ञों के साथ चर्चा भी कराई जाएगी. सुप्रसिद्ध नृत्यांगना शोवाना नारायण और कलाकार नीलम चौधरी इस मास्टरक्लास की मेज़बानी करेंग.  दरअसल इस म्यूजियम बियनाले के जरिये बिहार अपने गौरवशाली इतिहास को दुनिया भर फैलाना चाहता है. बिहार संग्रहालय को बस कोरोना की टीस सता रही है हालांकि बिहार के गौरव और इस ऐतिहासिक मेजबानी को लेकर सभी उत्साहित हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज