पटना : रामनवमी के दिन बंद रहेगा हनुमान मंदिर, भक्तों के लिए होगी ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था

मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए भक्तों से मंदिर नहीं आने की अपील की है.

मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए भक्तों से मंदिर नहीं आने की अपील की है.

मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने भक्तों से अपील की कि वे रामनवमी के दिन मंदिर न आएं. वे ऑनलाइन प्रसाद मंगवा सकते हैं और जियो टीवी के माध्यम से ऑनलाइन दर्शन भी कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 8:54 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार का प्रसिद्ध महावीर मंदिर रामनवमी के अवसर पर भक्तों के लिए बंद रहेगा. मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को ध्यान में रखते हुए भक्तों से मंदिर नहीं आने की अपील की है. उन्होंने बताया कि भक्तों की सुख-शान्ति और कोरोना संकट से मुक्ति के लिए रामनवमी के दिन महावीर मंदिर में विशेष पूजा होगी. भक्तों के लिए जियो टीवी के माध्यम से ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था भी की गई है.

महावीरी ध्वज बदले जाएंगे

मंदिर न्यास समिति के सचिव ने बताया कि मंदिर में तीनों निर्धारित स्थानों पर महावीरी ध्वज बदले जाएंगे. मुख्य पूजा मंदिर परिसर के उत्तरी भाग में ध्वज के पास होगी. कार्यालय के निकट दूसरे ध्वज स्थल पर पूर्व की भांति भक्तों के नाम, गोत्र आदि के संकल्प के साथ ध्वज लगाए जाएंगे. मंदिर काउंटर से इसके लिए भक्तों ने रसीद कटाई है. शनिदेव के निकट स्थित महावीरी ध्वज भी बदला जाएगा. महावीर मंदिर के अन्य सेवा प्रकल्प जैसे दरिद्र नारायण भोज जिसमें गरीबों के लिए मुफ्त भोजन की व्यवस्था की जाती है और सिंदूर-शृंगार पूजा आदि के लिए मंदिर के काउंटर से रसीद कट रही है.

ऑनलाइन मंगाएं नैवेद्यम
आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि मंदिर का विशेष प्रसाद नैवेद्यम भी अब भक्त ऑनलाइन (गूगल पे नंबर 9334467800 के जरिए पेमेंट के बाद 9334468401 पर व्हाट्स एप्प सन्देश करके ) मंगवा सकते हैं. इसके लिए मंदिर के वेबसाइट पर व्यवस्था की गई है. मंदिर के प्रवेश द्वार पर बने काउंटरों पर भी सुबह से शाम छह बजे तक नैवेद्यम उपलब्ध है.

बीते साल भी यही था हाल

आपको बता दें कि हर वर्ष रामनवमी के दिन महावीर मंदिर में 3-4 लाख श्रद्धालु दर्शन हेतु आते थे. इसके लिए पुलिस-प्रशासन के सहयोग से विशेष इंतजाम किए जाते रहे हैं. पिछले वर्ष भी कोविड संक्रमण के कारण भक्त दो विग्रहों वाले इस अनूठे मंदिर में हनुमान जी के दर्शन नहीं कर पाए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज