होम /न्यूज /बिहार /Patna Flower Shop: पटना की इस फूल मंडी में उमड़ती है खरीदारों की भीड़, मौजूद है कई वैरायटी

Patna Flower Shop: पटना की इस फूल मंडी में उमड़ती है खरीदारों की भीड़, मौजूद है कई वैरायटी

Patna News: यहां रजनीगंधा, गुलाब, गेंदा, आर्केट, जलवेरा, गेडुला, आकमाला, अरहूल, बेली, जूही, चंपा इत्यादि फूल देखने को म ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – उधव कृष्ण

पटना.अगर आप फूलों के शौकीन हैं और आपको होलसेल रेट में इसको खरीदना है तो आपको यहां आना होगा. पटना जंक्शन के महावीर मंदिर के ठीक पीछे वाली गली में एक लाइन से फूलों की 14 होलसेल की कई दुकाने हैं. बता दें कि ये दुकानें महावीर मंदिर के जीर्णोद्वार से भी पहले से यहां लगती हैं. मंदिर निर्माण के बाद फूलों की इन दुकानों को महावीर मंदिर न्यास कमेटी द्वारा जगह उपलब्ध करवा दी गई. शादी विवाह से लेकर तमाम शुभ, मांगलिक कार्यों आदि में लोग फूलों की खरीदारी करने यहां भारी संख्या में पहुंचते हैं. इस फूलों वाली गली में आपको तरह तरह के फूल, बुके, वरमाला इत्यादि मिल जाएंगे.

कौन कौन से फूल मिलेंगे
यहां रजनीगंधा, गुलाब, गेंदा, आर्केट, जलवेरा, गेडुला, आकमाला, अरहूल, बेली, जूही, चंपा इत्यादि फूल देखने को मिल जाएंगे. इसके साथ ही विशेष ऑर्डर पर अलग से भी फूल मंगवाए जाते हैं. दुकानदार राजकुमार मालाकार बताते हैं कि वीआईपी फंक्शन हो तो प्लेन से भी फूलों को अलग- अलग राज्यों से पटना मंगवाया जाता है.

फूलों की कम हो गई खुशबू
समय के साथ फूलों के उत्पादन में भी काफी बदलाव आया है. वयोवृद्ध फूल दुकानदार ललन प्रसाद मालाकार कहते हैं कि रजनीगंधा और कुछ अन्य फूल अब हाइब्रिड हो चले हैं. जिससे उनकी खुशबू कम हो गई है. ललन बताते हैं कि 15-20 साल पहले तक इसकी असली खुशबू कायम थी जो समय के साथ कम होती चली जा रही है.

जान लीजिए गुलदस्ते की कीमत
यहां 100 ₹ से बुके की शुरुआत होती है जो 2000 से 2500 ₹ तक जाती है. बता दें कि पुणे से मंगाए गए गुलाब को उसकी लॉन्ग लाइफ के लिए लोग और दुकानदार ज्यादा पसंद करते हैं. जबकि बंगाल से मंगवाए गुलाब के फूल 1 से 2 दिन में खराब होने लगते हैं.

लगन में अच्छी होती है बिक्री
राजकुमार मालाकार बताते हैं कि लगन के सीजन में लाख -डेढ़ लाख तक के फूल 10 से 20 ₹ के मार्जिन पर निकलते हैं. वहीं दुकानदार सुरेश भगत सरकार से अन्य राज्यों की तर्ज पर स्थाई फूल मंडी देने की बात कहते हैं.

बेली रोड में होते थे फूल
ललन प्रसाद मालाकार बताते हैं कि पहले बेली रोड में कई प्रकार के फूल विशेष तौर पर उगते थे. पर अब समय के साथ जनसंख्या, आवास इत्यादि बढ़ने से कई फूलों के लिए दूसरे राज्यों पर निर्भर रहना पड़ता है.

Tags: Andy Flower, Bihar News, Marriage ceremony, PATNA NEWS, Sunflower, Wedding Ceremony

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें