लाइव टीवी

बिहारः काम के बोझ में दबी पटना पुलिस अब करेगी ध्यान और विपश्यना

Sanjay Kumar | News18 Bihar
Updated: December 15, 2019, 10:29 PM IST
बिहारः काम के बोझ में दबी पटना पुलिस अब करेगी ध्यान और विपश्यना
पटना पुलिस लाइन में योग करते पुलिसकर्मी.

काम के दौरान लगातार शारीरिक और मानसिक दबाव (burden of work) झेलते रहने से परेशान पटना पुलिस (Patna police) अब ध्यान (meditation) योग और विपश्यना (Vipassana) का सहारा ले रही है. पुलिस लाईन में आयोजित शिविर में एसएसपी से लेकर कॉन्स्टेबल तक कर रहे हैं योग (Yoga) और ध्यान.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: December 15, 2019, 10:29 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) की राजधानी पटना (Patna) में अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण में नाकामी पर लोगों का गुस्सा झेलने वाली पटना पुलिस (Patna police), अब काम पर फोकस करने के लिए योग (Yoga) का सहारा ले रही है. कर्तव्य निर्वहन के दौरान लगातार शारीरिक और मानसिक दबाब झेलनेवाली पटना पुलिस अब ध्यान (meditation) योग और विपश्यना (Vipassana) का सहारा ले रही है. अपराधियों से लोहा लेने वाले कॉन्स्टेबल से लेकर एसएसपी तक रविवार को ध्यान में डूबे दिखे. पटना पुलिस लाईन (Police Line) में आयोजित विपश्यना शिविर का लाभ सैकड़ों पुलिसकर्मियों ने उठाया. इस शिविर में दारोगा हों या इंस्पेक्टर, सिटी एसपी या एसएसपी, सभी लोग योग करते नजर आए.

पुलिसकर्मियों के काम की अवधि तय नहीं
कहने को पुलिसकर्मी 8 घंटे तक काम करते हैं. काम भी शिफ्ट बंटा होता है, लेकिन हकीकत में पुलिसकर्मियों के लिए काम की कोई निश्चित अवधि तय नहीं होती है. कई बार तो इन्हें 12 घंटे से लेकर 15-15 घंटे तक अपने कर्तव्य का पालन करना पड़ता है. पर्याप्त आराम नहीं मिलने के कारण पुलिसकर्मियों के बीमार होने की समस्या भी बनी रहती है. पटना पुलिस भी इससे अछूती नहीं है. हाल में हुई जांच के दौरान ट्रैफिक पुलिस के 30 जवानों को बीमार रहने के बावजूद काम करते पाया गया. इन बातों के मद्देनजर ही पुलिस विभाग के आला अफसरों ने योग शिविर लगाने का फैसला किया.

योग शिविर में आए अफसर और कर्मचारी

पटना के पुलिसकर्मियों पर काम का बोझ देखते हुए ही पुलिस लाइन में ध्यान, योग और विपश्यना कार्यक्रम का आयोजन कराया गया. इसमें न सिर्फ निचले स्तर के पुलिसकर्मी पहुंचे, बल्कि आला अधिकारी भी आए और घंटों तक उन्होंने योग और ध्यान में खुद को लगाए रखा. विपश्यना कर रहे पुलिसकर्मियों ने बताया कि ऐसे शिविर से उन्हें न केवल सुकून मिला, बल्कि उम्मीद है कि कार्यक्षमता भी बढ़ेगी. दारोगा राम निवास सिंह ने बताया कि पटना पुलिस प्रशासन के आलाधिकारियो की यह पहल अच्छी है. आलाधिकारियों ने भी माना कि काम के बीच ऐसे शिविर, किसी टॉनिक से कम नहीं हैं. पटना की एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि विभाग आगे भी ऐसे आयोजन कराएगा.

ये भी पढ़ें -

CAB पर बिफरे प्रशांत किशोर बोले- बिहार में NRC लागू नहीं करेंगे नीतीश कुमारतेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या ने राबड़ी देवी पर लगाया मारपीट कर घर से निकालने का आरोप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 15, 2019, 10:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर