एक्शन में तेज प्रताप! PMCH का दौरा कर कहा- कोरोना से लड़ाई में नीतीश सरकार नाकाम

गर्दनीबाग अस्पताल के बाद राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच (PMCH) का दौरा करने के बाद तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि यह सरकार कोरोना नियंत्रण में पूरी तरह से विफल है. इनके मंत्री अपने घरों में AC में रहते हैं और वहीं से बयान देते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बैठकों से कोई निष्कर्ष नहीं निकल रहा है. यह सरकार जब जाएगी तभी भला होगा

गर्दनीबाग अस्पताल के बाद राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच (PMCH) का दौरा करने के बाद तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि यह सरकार कोरोना नियंत्रण में पूरी तरह से विफल है. इनके मंत्री अपने घरों में AC में रहते हैं और वहीं से बयान देते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बैठकों से कोई निष्कर्ष नहीं निकल रहा है. यह सरकार जब जाएगी तभी भला होगा

गर्दनीबाग अस्पताल के बाद राज्य के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच (PMCH) का दौरा करने के बाद तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने कहा कि यह सरकार कोरोना नियंत्रण में पूरी तरह से विफल है. इनके मंत्री अपने घरों में AC में रहते हैं और वहीं से बयान देते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बैठकों से कोई निष्कर्ष नहीं निकल रहा है. यह सरकार जब जाएगी तभी भला होगा

  • Share this:

पटना. राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) के निर्देशों के बाद उनके बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) एक्शन में आ गए हैं. रविवार देर शाम गर्दनीबाग अस्पताल का निरीक्षण करने के बाद वो आज यानी सोमवार को पटना के पीएमसीएच (PMCH) के दौरे पर पहुंचे थे. यहां कोरोना मरीजों (Corona Patients) के परिजनों से मुलाकात कर तेज प्रताप ने उनका हालचाल पूछा और हर संभव मदद का भरोसा दिया. इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि पीएमसीएच की स्थिति बहुत खराब है. यहां पेशेंट मर रहे हैं उनके परिजनों को उनका शव नहीं दिया जा रहा है. आरजेडी नेता ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बिहार (Bihar) में बदतर स्थिति है और राज्य सरकार की नाकामी इसे और बढ़ा रही है.

पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अस्पतालों में ऑक्सीजन नहीं है, बेड नहीं है, गरीबों को ऑक्सीजन नहीं मिलता है. बड़े लोगों को पैरवी करने के बाद ऑक्सीजन मिलता है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल की यह हालत है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे कोरोना काल में अपने घरों से नहीं निकल रहे हैं.


तेज प्रताप ने कहा कि यह सरकार पूरी तरह से विफल है. इनके मंत्री अपने घरों में AC में रहते हैं और वहीं से बयान देते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बैठकों से कोई निष्कर्ष नहीं निकल रहा है. यह सरकार जब जाएगी तभी भला होगा.

Youtube Video

बता दें कि दिल्ली में अपनी राज्यसभा सांसद बेटी मीसा भारती के आवास पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे लालू यादव ने रविवार को अपनी पार्टी के विधायकों और नेताओं के साथ वर्चुअल बैठक की थी. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उन्होंने उन सभी को यह निर्देश दिया था कि कोरोना काल में बिहार की जनता काफी परेशान है, इसलिए वो लोग जाकर उनकी हर संभव मदद करें. इसलिए यह समझा जा रहा है कि पिता के दिए निर्देशों का पालन करते हुए ही तेज प्रताप ने पहले पटना के गर्दनीबाद अस्पताल और उसके अगले दिन पीएमसीएच अस्पताल का निरीक्षण किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज