अपना शहर चुनें

States

जेल में बंद कैदियों के लिए छलका RJD विधायक रीतलाल यादव का दर्द, सदन में सरकार से पूछे सवाल 

दानापुर से आरजेडी के विधायक रीतलाल यादव ने विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन बिहार के जेलों में बंद कैदियों से संबंधित कई सवाल पूछे
दानापुर से आरजेडी के विधायक रीतलाल यादव ने विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन बिहार के जेलों में बंद कैदियों से संबंधित कई सवाल पूछे

दानापुर से आरजेडी विधायक रीतलाल यादव (Ritlal Yadav) ने विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन गृह मंत्री से सवाल पूछते हुए कहा कि बिहार में जेलों में बंद कई कैदी हैं जिनकी उम्र 75 वर्ष या उससे अधिक है. वो बुजुर्ग और लाचार होने के कारण मानसिक रूप से भी बीमार हैं, ऐसे कैदियों की जिंदगी जेलों में बड़ी मुश्किल से कट रही है, क्या सरकार इन कैदियों को छोड़ने के लिए कोई पहल करेगी?

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 4:17 PM IST
  • Share this:
पटना. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के बाहुबली विधायक रीतलाल यादव (Ritlal Yadav) का बिहार के जेलों में बंद कैदियों के लिए दर्द छलका है. दानापुर से विधायक रीतलाल यादव ने बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) के बजट सत्र के दूसरे दिन सरकार से राज्य के जेलों में बंद कैदियों (Prisoners) के संबंध में कई सवाल पूछे. उन्होंने गृह मंत्री से सवाल पूछते हुए कहा कि बिहार में जेलों में बंद कई कैदी हैं जिनकी उम्र 75 वर्ष या उससे अधिक है. वो बुजुर्ग और लाचार होने के कारण मानसिक रूप से भी बीमार हैं, ऐसे में वो अपना दैनिक नित्यक्रम भी नहीं कर पाते. इन कैदियों की जिंदगी जेलों में बड़ी मुश्किल से कट रही है, मजबूरी में वो उम्र के इस पड़ाव में जेल में बंद हैं, इसे ध्यान में रखते हुए क्या सरकार इन कैदियों को छोड़ने के लिए कोई पहल करेगी?

जेलों में बंद कैदियों को लेकर रीतलाल ने सिर्फ यही सवाल नहीं पूछा बल्कि उनके बारे में सरकार से यह भी जानना चाहा कि वैसे कैदी जो उम्रकैद की सजा काट रहे हैं और सदाचारी बंदी के सूची में शामिल हैं, क्या उनकी भी रिहाई की जाएगी. क्योंकि ऐसे बंदियों की रिहाई के लिए बिहार राज डंडा परिहार परिषद का गठन भी किया गया था, और परिषद की नियमित बैठक नहीं होने और जटिल प्रक्रिया होने के कारण कई दी हुई सजा पूरी होने के बाद भी वर्षों से जेल में बंद हैं. ऐसे कैदी अपनी रिहाई की आस लगाए बैठे हैं. इनमें से कई कैदियों की मौत भी जेल में हो जाती है.

हालांकि विपक्ष के हंगामे के कारण विधायक रीतलाल यादव का सवाल सदन के फ्लोर पर नहीं आ सका लेकिन उनके सवाल की चर्चा विधानसभा के लॉबी में खूब हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज