पटना शेल्टर होम में लड़कियों की मौतः चार के खिलाफ FIR दर्ज, कोषाध्यक्ष-सचिव गिरफ्तार

दोनों युवतियों की मौत पर जब जिलाधिकारी से सवाल पूछे गये तो उन्होंने हर पहलू पर मामले की छानबीन करने की बात कही. इस मामले में शेल्टर होम की हिरासत में ली गई महिलाकर्मी ने कैमरे के सामने चुप्पी साधे रखी.

News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 11:55 PM IST
पटना शेल्टर होम में लड़कियों की मौतः चार के खिलाफ FIR दर्ज, कोषाध्यक्ष-सचिव गिरफ्तार
नेटवर्क 18 क्रिएटिव
News18 Bihar
Updated: August 12, 2018, 11:55 PM IST
पटना शेल्टर होम में दो युवतियों की मौत के मामले में पुलिस ने चार के खिलाफ केस किया दर्ज कर लिया है. शेल्टर होम की कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल, सचिव चिरंतम समेत चार लोगों के खिलाफ राजीव नगर थाने में मामला दर्ज हुआ है. इनमें से मनीषा और चिरंतम को गिरफ्तार कर लिया गया है.

(10 अगस्त को ही हो गई थी लड़कियों की मौत, 12 अगस्त को लाया गया अस्पताल)

पटना के आसरा शेल्टर होम की दो लड़कियों को तबीयत खराब होने के बाद रविवार को पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) ले जाया गया था जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था. अस्पताल के अधीक्षक डॉक्टर राजीव रंजन ने न्यूज 18 को बताया कि दोनों लड़कियों की मौत अस्पताल पहुंचने से पहले हो गई थी. न्यूज 18 को यह भी जानकारी मिली है कि दोनों लड़कियों की मौत 10 अगस्त की रात को ही हो गई थी जबकि उन्हें 12 अगस्त को अस्पताल ले जाया गया. पोस्टमार्टम में एक युवती की बीमारी से मौत की पुष्टि हुई है तो दूसरी युवती की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आनी अभी बाकी है.

वैसे इससे पहले दोनों युवतियों की मौत पर जब जिलाधिकारी से सवाल पूछे गये तो उन्होंने हर पहलू पर मामले की छानबीन करने की बात कही. इस मामले में शेल्टर होम की हिरासत में ली गई महिलाकर्मी ने कैमरे के सामने चुप्पी साधे रखी. जिलाधिकारी ने कहा कि फिलहाल मामले की जांच करने के साथ ही पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है.

उन्होंने बताया कि पूछताछ में पता चला है कि मौत का कारण बुखार और डायरिया है लेकिन पूरे मामले से पर्दा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही उठेगा. इस मामले में एसएसपी चाहे जो कुछ भी कहें लेकिन कई ऐसे सवाल न्यूज 18 खड़े कर रहा है जिससे पूरे मामले में लापरवाही सामने आ रही है. (पटना के शेल्टर होम की दो युवतियों की मौत, 24 घंटे बाद पुलिस को मिली जानकारी)

1.दोनों युवतियों की मौत 10 अगस्त को हो गयी लेकिन प्रशासन ने जांच आज क्यों शुरू की?

2. आसरा शेल्टर होम में 10 अगस्त को सोशल वेलफेयर डिपार्टमेंट औऱ पुलिस ने जांच की तो संवासिनों की हालत का अंदाजा क्यों नही लग पाया? (पटना शेल्टर होम में 10 अगस्त को ही हो गई थी युवतियों की मौत, 12 को पहुंचाया अस्पताल)

3. पोस्टमार्टम मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में हुआ तब जिलाधिकारी को आज क्यों जानकारी हुई ?

4. दो दिन बीत जाने के बाद भी स्थानीय थाना और डीएसपी, एसपी को मौत की जानकारी क्यों नहीं हुई जबकि दो दारोगा की उपस्थिति में ही युवतियों का पोस्टमार्टम हुआ? (मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केसः सीबीआई ने ब्रजेश ठाकुर के बेटे राहुल आनंद को छोड़ा)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर