मटुकनाथ की जिंदगीं में फिर आया Twist, पत्नी को देना होगा हर्जाना

सुप्रीम कोर्ट ने मटुकनाथ को अपनी पत्नी आभा को वेतन का एक तिहाई हिस्सा बतौर रखरखाव देने का आदेश दिया है.

News18 Bihar
Updated: April 17, 2018, 7:47 PM IST
मटुकनाथ की जिंदगीं में फिर आया Twist, पत्नी को देना होगा हर्जाना
प्रोफेसर मटुकनाथ (फाइल)
News18 Bihar
Updated: April 17, 2018, 7:47 PM IST
पटना यूनिवर्सिटी में हिंदी के प्रोफेसर और लवगुरु के नाम से फेमस मटुकनाथ को अब पत्नी को गुजारा भत्ता देना पड़ेगा. सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि मटुकनाथ को अपनी पत्नी आभा को वेतन का एक तिहाई हिस्सा बतौर रखरखाव देना होगा. रिटायर होने के बाद पेंशन का भी एक तिहाई हिस्सा आभा को मिलेगा.

कोर्ट ने कहा कि विभाग सीधे ही इस रकम को काटकर पत्नी के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकता है. निचली अदालत के आदेश का पालन करते हुए मटुकनाथ दिसंबर 2018 तक बकाया राशि 8.5 लाख जमा कराएंगे. कोर्ट ने कहा कि तीन हफ्ते के भीतर दोनों एक दूसरे के खिलाफ दाखिल केसों को वापस लेंगे. इसके बाद दोनों एक दूसरे पर कोई दावा नहीं करेंगे.

मटुकनाथ पटना यूनिवर्सिटी में हिंदी के प्रोफेसर हैं जो अपनी उम्र से 30 साल छोटी छात्रा के साथ लिव इन में रहे और अपनी पत्नी को 2004 में छोड़ दिया था. उनकी पत्नी आभा पिछले 10 सालों से अपने हक के लिए लड़ रही है, ताकि उनको गुजारा भत्ता मिल सके.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर