Positive India: कोरोनाकाल में पति ने छोड़ा महिला का साथ तो थानेदार ने इस तरह की उसकी मदद

कोरोनाकाल में पति ने छोड़ा महिला का साथ तो थानेदार ने की उसकी मदद.

कोरोनाकाल में पति ने छोड़ा महिला का साथ तो थानेदार ने की उसकी मदद.

Positive India: पटना के पत्रकार नगर के थानेदार मनोरंजन भारती कोरोनाकाल में कई लोगों की मदद कर रहे हैं. वह परेशान लोगों के लिए अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन से लेकर खाने-पीने तक का इंतजाम करा रहे हैं.

  • Share this:

पटना. कोरोना त्रासदी के समय जरूरतमंदों के लिए अगर कोई हाथ बड़े तो वह बेशक स्वागतयोग्य है. खासकर इस समय जरूरतमंद लोगों के लिए एक छोटी सी भी मदद किसी संजीवनी से कम नहीं है. वह भी तब जब आपके अपने भी आप से मुंह मोड़ रहे हों. पटना के पत्रकार नगर थाने (Patrakar nagar police station) में एक ऐसी ही असहाय महिला अपने छोटे से मासूम बच्चे को लेकर थाने पहुंची,  जिसके पति ने इस कोरोनाकाल में उसका साथ छोड़ दिया है. महिला ने रो-रोकर पुलिस वालों का अपना दर्द सुनाया.

अपने मासूम बच्चे को लेकर थाने पहुंची इस महिला का नाम ज्योति है. जिसे अपने छोटे से बच्चे के परवरिश की चिंता सता रही है. पत्रकार नगर के थानेदार मनोरंजन भारती ने इस महिला को ना सिर्फ न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया बल्कि उसके पति को फोन करके चेतावनी भी दी कि अगर वो अपनी पत्नी और मासूम बच्चे को तुरत नहीं अपनाया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी की जाएगी. इसके अलावे थानेदार ने ज्योति के मासूम बच्चे को बिस्किट और कुछ आर्थिक सहायता भी की. साथ में ये भी कहा कि अगर खाने की कोई भी दिक्कत हो तो वो अपने बच्चे के साथ रोज पत्रकार नगर थाने से सुबह-शाम का खाना ले सकती है. पुलिस के दिए इस भरोसे के बाद ज्योति अपने मासूम बच्चे के साथ थाने से बाहर निकल गई.

Youtube Video

ऑक्सीजन से लेकर बेड तक कराया जाता है उपलब्ध
पत्रकार नगर थाने की पुलिस इस कोरोनाकाल में उन सभी लोगों की मदद कर रहा है जिन्हें ऑक्सीजन सिलिंडर की रिफिलिंग या फिर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना हो. पटना के पत्रकार नगर थाने के इंस्पेक्टर मनोरंजन भारती इन दिनों कोरोना संक्रमितों की मदद में लगे हुए हैं. मनोरंजन भारती का कहना है कि इस महामारी में सभी को एक अवसर मिला है कि ज्यादा से ज्यादा जरुरत मंद लोगों की मदद की जाए. उसी कड़ी में पटना पुलिस भी लोगों की सेवा में लगी है.

मनोरंजन भारती के कहना है कि पिछले कुछ दिनों में मारपीट की कोई शिकायत भी थाने में दर्ज नहीं हो रही है इसलिए हमारे पास पर्याप्त समय है, जिसमें हम इस महामारी में जरूरतमंदों की मदद कर सकें. मनोरंजन भारती जैसे पुलिसवाले बिहार पुलिस के लिए मिसाल तो बन ही रहे हैं, साथ ही समूचे समाज में एक बड़ा संदेश भी दे रहे हैं कि अगर किसी के मन में जरुरतमंदों के प्रति सेवा का भाव हो तो वो किसी भी रूप में उनकी मदद कर सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज