लाइव टीवी

PK का CM नीतीश पर हमला, कहा- सत्ता में बने रहने के लिए BJP के सामने किया 'आत्मसमर्पण'
Patna News in Hindi

भाषा
Updated: February 20, 2020, 7:32 AM IST
PK का CM नीतीश पर हमला, कहा- सत्ता में बने रहने के लिए BJP के सामने किया 'आत्मसमर्पण'
पीके ने कहा कि बिहार का जो मुख्यमंत्री है, वह कोई मैनेजर का पद नहीं है. ( फाइल फोटो)

प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री की कुर्सी कोई मैनेजर की पद नहीं है, जो...

  • Share this:
पटना. बिहार में सत्ताधारी जद(यू) से निष्कासित प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की ओर संकेत कर दिये गये ' पिछलग्गू ' वाले अपने बयान पर बुधवार को सफाई देते हुए कहा कि जिस प्रकार जद(यू) प्रमुख ने राज्य को कोई लाभ दिलवाये बिना केवल सत्ता में बने रहने के लिए भाजपा (BJP) के समक्ष ‘आत्मसमर्पण’ किया है, उससे वह परेशान हैं. अतीत में भाजपा के साथ काम करने के बावजूद भाजपा को नाथूराम गोडसे से जोड़े जाने के कारण आलोचनाओं के निशाने पर आये प्रशांत ने कहा कि मुख्यधारा के किसी राजनीतिक संगठन द्वारा महात्मा गांधी के हत्यारे की सार्वजनिक प्रशंसा किये जाने का एक हालिया चलन पिछले छह से आठ महीने में देखने को मिला है.

नीतीश और उनकी सरकार की ओर इशारा करते हुए प्रशांत ने कहा कि वे ‘एक तरफ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा बताए गए सात पापों से संबंधित शिलापट प्रदेश में लगवा रहे हैं तो दूसरी तरफ ऐसे लोगों के साथ खड़े हैं जो बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे जिंदाबाद कह रहे हैं. दोनों एक साथ नहीं चल सकता. उसमें से एक जो अच्छा लगे, चुन लें.’’

'पिछलग्गू' जैसा घटिया शब्द चुने
बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने नीतीश की आलोचना करने पर मंगलवार को प्रशांत किशोर पर बरसते हुए कहा था 'अजीब पाखंड है कि कोई किसी को पितातुल्य बताये और पिता के लिए 'पिछलग्गू' जैसा घटिया शब्द चुने'. प्रशांत ने सुशील की टिप्पणी का जवाब देने से बुधवार को इंकार कर दिया. किंतु उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच- छह साल जब मैं और नीतीश जी साथ रहे. हमारा संबंध विशुद्ध रूप से राजनीतिक संबंध नहीं था. मैं उनको कई मायने में पितातुल्य ही मानता हूं.’’



प्रशांत किशोर ने दी सफाई
राजनीतिक रणनीतिकार ने ‘‘पिछलग्गू’’ वाली अपनी टिप्पणी पर सफाई देते हुए प्रशांत किशोर ने कहा,‘‘किसी के साथ गठबंधन के तहत सरकार चलाना अलग बात है पर किसी के सामने आत्मसमर्पण कर उसके मातहत हो जाना दूसरी बात है.’’ जद(यू) से निकाले गये नेता कहा, ‘‘बिहार का जो मुख्यमंत्री है, वह कोई मैनेजर का पद नहीं है. वह ऐसा पद नहीं है कि किसी पार्टी का नेता इंगित कर दे कि ये आदमी बिहार के मुख्यमंत्री होंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर नीतीश जी भाजपा के पिछलग्गू बनकर काम कर रहे हैं और उसकी वजह से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और नरेंद्र मोदी जी ने डेढ़ लाख करोड़ रूपये के विशेष की जो घोषणा की है, का एक हिस्सा भी मिल जाता है तो मान लेते. लेकिन अगर आप पिछलग्गू दिल्ली विधानसभा चुनाव में दो सीट, जिसे आप जीत नहीं सके, पाने के लिए बने रहे तो इससे किसी का फायदा नहीं है.’’

ये भी पढ़ें- 

CM की कृषि समीक्षा बैठक के बीच बुधवार को ये हैं पटना के महत्वपूर्ण इवेंट्स

बिहार: बदमाशों ने कोरियर कंपनी कर्मचारी को गोली मारकर पैसे लूटे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 20, 2020, 12:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर