बिहार चुनाव से पहले PM नरेंद्र मोदी का मास्टर स्ट्रोक, बड़ी सौगात देने की तैयारी
Patna News in Hindi

बिहार चुनाव से पहले PM नरेंद्र मोदी का मास्टर स्ट्रोक, बड़ी सौगात देने की तैयारी
चुनाव से पहले पीएम मोदी का बड़ा मूव. (File)

Bihar Assembly Election 2020: बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) तीन मेगा ब्रिज और पांच सड़क की सौगात देने वाले हैं. 

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 2, 2020, 11:22 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मास्टर स्ट्रोक लगाने की तैयारी में हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द बिहार में तीन मेगा ब्रिज और पांच सड़क का कार्यारंभ करने जा रहे हैं. इन सभी परियोजनाओं की लागत 18 हजार करोड़ रुपये है. चुनाव से ठीक पहले इन परियोजनाओं को शुरू करने के फ़ैसले को पीएम मोदी का मास्टर स्ट्रोक माना जा रहा है. इन परियोजनाओं से बिहार के 9 जिलों को सीधा लाभ होगा. इस सौगातों का सीधा फ़ायदा चुनाव में उठाने की कोशिश की जा रही है.

कौन-कौन सी है परियोजना

पीएम नरेंद्र मोदी जिन 8 परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाएंगे उसमें पटना-गया-डोभी एनएच, रजौली-बख्तियारपुर एनएच,आरा-मोहनिया एनएच, नरेनपुर- पूर्णिया एनएच, पटना रिंग रोड (कन्हौली-रामनगर) परियोजना  के साथ तीन मेगा ब्रिज. गांधी सेतु के समानांतर नया पुल, भागलपुर में नया बिक्रमशिला सेतु, बिहपुर में फुलौत पुल का भी शिलान्यास होगा.



लंबे समय से अटकी थीं ये परियोजनाएं
2015 के विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी ने बिहार के लिए जिस सवा लाख करोड़ पेकेज का ऐलान किया था ये सभी प्रोजेक्ट उसी पेकेज का हिस्सा है. ये सभी परियोजनाएं काफी लंबी अवधि से अटकी पड़ी थीं. पटना-गया-डोभी फोरलेन के निर्माण का मामला भूमि अधिग्रहण की वजह से अटका रहा. उसके बाद निर्माण एजेंसी ने हाथ खड़े कर दिए. अब इस सड़क के लिए एजेंसी भी तय हो गई है और भूमि की समस्या भी नहीं है. इसी तरह रजौली-बख्तियारपुर सड़क है. बिहार की यह पहली सड़क थी, जो पीपीपी मोड में बनाई जानी थी. कई वर्षों तक पर्यावरण क्लीयरेंस में परियोजना अटकी रही. उसके बाद निर्माण एजेंसी ने मना कर दिया. आरा-मोहनिया सड़क के साथ भी कई समस्याएं पेश आईं. अब इस पर काम आरंभ होगा. पटना रिंग रोड पर भी काफी दिनों से बात चल रही थी.

इन मेगा ब्रिज से उत्तर बिहार को मिलेगा फ़ायदा

गंगा पर नए पुलों से उत्तर और दक्षिण बिहार के बीच संपर्क सुगम होगा. पटना-हाजीपुर के बीच गांधी सेतु के समानांतर नया पुल 29 सौ करोड़ रुपये की लागत से बन रहा है. भागलपुर में बिक्रमशिला सेतु के निर्माण पर 11 सौ करोड़ रुपये खर्च होने हैं. इसके अलावा 14 सौ करोड़ की राशि से बिहपुर में फुलौत पुल बनाया जाना है.

ये भी पढ़ें: UPPSC Mains 2018 के रिजल्ट में गड़बड़ी, इलाहाबाद HC ने सरकार से मांगा जवाब

पथ निर्माण मंत्री ने कही ये बात

बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने कहा है कि पीएम पैकेज के तहत 54 हज़ार 7 सौ करोड़ पथ निर्माण पर खर्च होना था जिसमें अधिकांश योजनाओं पर काम चल रहा है, लेकिन कुछ में ज़मीन की दिक़्क़त थी. उसे दुर कर लिया गया है. तीन बड़े पुल और पांच सड़क का टेंडर अवार्ड होने वाला है. चुनाव से पहले इसका सुभारंभ किया जाएगा. वहीं विपक्ष के द्वारा टाइमिंग पर सवाल उठाने पर कहा जिन लोगों ने जीवन मे काम नहीं किया वो सवाल उठा रहे हैं. जिसने अपने शासनकाल में सड़क और पुलों के निर्माण के लिए कुछ किया ही नहीं वो तो सवाल ही उठाएंगे. विकास पर सवाल उठाने वालों को जनता देख रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज