लाइव टीवी

Lockdown: PM पैकेज से बिहार की 90% आबादी को मिलेगा फायदा, मनरेगा मजदूरों को मिलेंगे 194 रुपए
Patna News in Hindi

Brijam Pandey | News18 Bihar
Updated: March 28, 2020, 11:38 AM IST
Lockdown: PM पैकेज से बिहार की 90% आबादी को मिलेगा फायदा, मनरेगा मजदूरों को मिलेंगे 194 रुपए
बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (फाइल फोटो)

सुशील मोदी ने कहा कि राशन कार्डधारी प्रत्येक परिवारों को अगले 3 महीने तक दोगुना खाद्यान्न की आपूर्ति की जायेगी. अन्त्योदय अन्न योजना से जुड़े प्रदेश के निर्धनतम 25 लाख परिवारों को 210 किग्रा मुफ्त खाद्यान्न 3 महीनों में मिलेंगे. शेष 1.43 करोड़ राशन कार्डधारियों को 30 किग्रा अनाज मुफ्त में दिया जायेगा.

  • Share this:
पटना. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण के खतरे से उत्पन्न स्थितियों के मुकाबले के लिए पीएम मोदी द्वारा घोषित 1.70 लाख करोड़ के पैकेज के तहत बिहार के 1.68 करोड़ राशन कार्डधारी परिवारों को अगले 3 माह तक मुफ्त में दोगुना खाद्यान्न, 4.64 करोड़ जन धन खाताधारकों में से महिला खाताधारियों को 3 महीने में 1500 रुपए, 85 लाख गरीब परिवारों को मुफ्त में 3 गैस सिलेंडर व अन्त्योदय अन्न योजना से जुड़े निर्धनतम परिवारों को 210 किग्रा मुफ्त खाद्यान्न मिलेगा. इस बात की जानकारी बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने दी.

निर्धन परिवारों को तीन महीने मिलेगा खाद्यान्न
सुशील मोदी ने कहा कि राशन कार्डधारी प्रत्येक परिवारों को अगले 3 महीने तक दोगुना खाद्यान्न की आपूर्ति की जायेगी. अन्त्योदय अन्न योजना से जुड़े प्रदेश के निर्धनतम 25 लाख परिवारों को 210 किग्रा मुफ्त खाद्यान्न 3 महीनों में मिलेंगे. शेष 1.43 करोड़ राशन कार्डधारियों को 30 किग्रा अनाज मुफ्त में दिया जायेगा.

उज्ज्वला योजना के तहत तीन महीने गैस फ्री



इसी प्रकार राज्य के 4.64 करोड़ जनधन खाताधारकों में से जिनमें अधिकांश महिला खाताधारी हैं, को प्रति महीने 500 की दर से 3 महीने में 1500 रुपये मिलेंगे. बिहार के 85 लाख गरीब परिवारों को उज्जवला योजना के तहत 3 महीने में 3 गैस सिलेंडर मुफ्त मिलेंगे.



177 की जगह 194 रु मिलेगी मजदूरी
बिहार में मनरेगा के तहत 32 लाख सक्रिय मजदूर हैं जिन्हें अब अगले वित्तीय वर्ष में प्रतिदिन की मजदूरी पहले के 177 रु. की जगह 194 रु. यानी 17 रुपये बढ़ोतरी के साथ मिलेंगे, जिससे लाॅकडाउन के दौरान उनके रोजगार दिवस की हुई क्षति की काफी हद तक भरपाई हो सकेगी. इस वित्तीय वर्ष में लगभग ढाई हजार करोड़ रुपये की मजदूरी का भुगतान किया गया है.

सेल्फ हेल्प ग्रुप को 10 के बजाए 20 लाख मिलेगा लोन
राज्य में कार्यरत 9 लाख 25 हजार स्वयं सहायता समूह जिनसे करीब 1 करोड़ महिलाएं जुड़ी हुई हैं को भी पहले के 10 लाख की जगह अब बिना किसी माॅरगेज के 20 लाख तक का बैंकों से कर्ज मिल सकेगा. 2019-20 में स्वयं सहायता समूहों को 3,300 करोड़ का तथा प्रारंभ से लेकर अब तक 11 हजार करोड़ का ऋण मिला है.

ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 28, 2020, 10:30 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading