पटना में नियोजित शिक्षकों का बवाल, पथराव के बाद पुलिस ने भांजी लाठियां

विधानसभा घेराव को पटना पहुंचे हजारों की संख्या में शिक्षकों और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई. इस दौरान पहले पुलिस ने वाटर कैनन का उपयोग कर उनको रोकन की कोशिश की

News18 Bihar
Updated: July 19, 2019, 5:59 PM IST
News18 Bihar
Updated: July 19, 2019, 5:59 PM IST
राजधानी पटना में पुलिस ने बिहार के नियोजित शिक्षको पर जमकर लाठियां बरसाई है. पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत विधानसभा घेराव को पटना पहुंचे हजारों की संख्या में शिक्षकों और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई. इस दौरान पहले पुलिस ने वाटर कैनन का उपयोग कर उनको रोकन की कोशिश की लेकिन वो नहीं माने.

इसके बाद पुलिस ने शिक्षकों पर लाठीचार्ज किया जवाब में शिक्षकों की तरफ से भी पत्थरबाजी की गई. दोनों तरफ से जारी इस झड़प में कई शिक्षकों को चोट आई है. चोटिल होने वालों में महिला शिक्षकें भी शामिल हैं वहीं कुछ पुलिसवालों को चोटें भी आई. प्रदर्शन कर रहे शिक्षक लगातार बैरिकेड तोड़ने का प्रयास कर रहे थे. शिक्षकों की भीड़ को नियंंत्रित करने के लिए पुलिस ने उनपर लाठीचार्ज किया. पुलिस के लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़े जाने के कारण नियोजित शिक्षकों में अफरातफरी मच गई.

पुलिस ने गर्दनीबाग के इलाके में शिक्षकों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. पुलिस ने हंगामा और लाठीचार्ज के बीच आठ बार आंसु गैस के गोले भी दागे. शिक्षकों का आरोप था कि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है जिसके वो हकदार हैं. प्रदर्शन में शामिल होने के लिए राज्य के कोने-कोने से शिक्षक पटना पहुंचे हैं.

शिक्षकों पर वाटर कैनन का इस्तेमाल करती पुलिस


कोने-कोने से पटना पहुंचे शिक्षक

सुबह 11 बजे से विधानसभा घेराव के इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सूबे के कोने-कोने से शिक्षक पटना पहुंचे थे. पहली बार सभी 18 संगठनों के शिक्षक एकजुट होकर सरकार के खिलाफ ये प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन के बाद गर्दनीबाग में महाधरना का भी आयोजन किया गया है. प्रदर्शन को लेकर गर्दनीबाग में बड़ी संख्या में पुलिसबल की तैनाती की गई है. बिहार के नियोजित शिक्षक ये आंदोलन सात सूत्री मांगों को लेकर कर रहे हैं.

प्रदर्शन में शामिल होने पटना पहुंचे शिक्षक

Loading...

समान काम के लिए समान वेतन की मांग

मालूम हो कि बिहार के नियोजित शिक्षक समान काम के लिए समान वेतन की मांग को लेकर लगातार आंदोलनरत हैं. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उनको निराशा हाथ लगी थी लेकिन सभी शिक्षक वेतन संबंधी अन्य मांगों को लेकर बिहार सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं.

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

शिक्षकों के विरोध-प्रदर्शन, विधानसभा घेराव और महाधरना को देखते हुए पटना में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. पटना के धरना जोन कहे जाने वाले इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है साथ ही विधानसभा के आसपास की सुरक्षा को भी पहले से अधिक किया गया है.
First published: July 18, 2019, 2:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...