दोबारा शराब के धंधे में तो नहीं उतर गए 211 बर्खास्त जवान? पुलिस मुख्यालय रख रहा पैनी नजर

शराब मामलों में बर्खास्त जवानों पर बिहार पुलिस मुख्यालय की नजर.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

शराब मामलों में बर्खास्त जवानों पर बिहार पुलिस मुख्यालय की नजर. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिहार पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में शराब से जुड़े मामलों में बर्खास्त पुलिसवालों के बारे में पूरी जानकारी मंगाई है, ताकि इन पर पैनी नजर रखी जा सके. इन जवानों में पुलिस, होमगार्ड और सैप के पुलिसकर्मी शामिल हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार में शराबबंदी के बावजूद अवैध धंधे में शामिल पुलिसवालों पर बिहार पुलिस मुख्यालय की पैनी नजर है. शराब से जुड़े मामलों में बिहार पुलिस के 211 जवानों को अभी तक बर्खास्त किया जा चुका है. इन्हीं जवानों पर मुख्यालय की नजर है. पुलिस हेडक्वार्टर को आशंका है कि कहीं यह जवान फिर से न शराब के अवैध धंधे में उतर जाएं, इसलिए विभिन्न जिलों के पुलिस अधिकारियों को पत्र लिखकर इन सभी बर्खास्त जवानों के घर का पता और मोबाइल नंबर मंगवाया गया है. शराब को लेकर बिहार पुलिस के बर्खास्त जवानों में चौकीदार, होमगार्ड, सिपाही और सैप जवान शामिल हैं.

पुलिस के इन बर्खास्त जवानों के घर का पता और मोबाइल नंबर मंगाने के लिए पुलिस मुख्यालय ने जवानों के नाम की लिस्ट भी जारी कर दी है. इस संबंध में मध निषेध प्रभाग के आईजी ने सभी जिलों के एसपी, रेल एसपी, बिहार सैन्य पुलिस बल 1, 2, 7 और 10 के कमांडेंट को पत्र लिखा है. पत्र में कहा गया है कि मद्य निषेध मामले में बर्खास्त पुलिसकर्मियों का घर का पता और मोबाइल नंबर दें. मद्य निषेध कानून लागू करने में लापरवाही बरतने वाले संलिप्त पुलिस पदाधिकारियों को प्राथमिकी दर्ज कर एवं विभागीय कार्यवाही संचालन के बाद बर्खास्त किया गया है.

6 अप्रैल तक मांगी जानकारी

गौरतलब है कि पुलिस महानिरीक्षक मद्य निषेध ने 6 अप्रैल 2021 तक बर्खास्त जवानों के बारे में जिलों से पूरी जानकारी मांगी है. इसके लिए एक प्रोफार्मा जारी किया गया है. पुलिस मुख्यालय पता लेकर आगे की छानबीन करेगा कि आखिर ये बर्खास्त पुलिसकर्मी कहीं शराब के धंधे में तो शामिल नहीं हैं. बता दें कि दो दिन पहले ही मुजफ्फरपुर में एक बर्खास्त दारोगा को गिरफ्तार किया गया है, जो इन दिनों शराब के अवैध कारोबार में शामिल पाया गया था. उसे पहले शराब से जुड़े केस में ही सेवा से बर्खास्त किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज