अपना शहर चुनें

States

राजद नेता का बड़ा बयान- नीतीश कुमार हमारे थे और आगे भी हमारे रहेंगे, बढ़ी सियासी हलचल

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

राजद नेताओं के बयान पर बीजेपी सांसद अजय निषाद (BJP MP Ajay Nishad) ने कहा है कि नीतीश कुमार के एनडीए छोड़ने का सवाल ही नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 3:23 PM IST
  • Share this:
पटना. अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में जेडीयू के छह विधायकों को बीजेपी में शामिल किए जाने के बाद बिहार में संभावनाओं की सियासत जारी है. हालांकि सीएम नीतीश कुमार  (CM Nitish Kumar)  ने स्वयं ही सूबे में किसी भी सियासी संकट से इनकार कर दिया है. बावजूद इसके आरजेडी समेत सभी विरोधी दल लगातार जदयू-भाजपा के बीच 'ऑल इज नॉट वेल' की बात कहे जा रहे हैं. विशेषकर शुक्रवार को नये साल के अवसर पर पूर्व मुख्‍यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने जब से ये कहा कि हम सीएम नीतीश के लिए महागठबंधन में एंट्री पर विचार कर रहे हैं, तब से ही सियासी बयानबाजियों भी दौर जारी हो गया है. इसी क्रम में राजद के कद्दावर नेता भाई वीरेंद्र (RJD Leader Bhai Virendra) ने एक बार फिर यह कहा है कि नीतीश कुमार हमारे थे और आगे भी हमारे रहेंगे.

दरअसल राबड़ी देवी द्वारा नीतीश कुमार को लेकर दिए गए बयान पर न्यूज 18 से बात करते हुए भाई वीरेंद्र ने कहा कि नीतीश कुमार हमारे थे और आगे भी हमारे रहेंगे. राबड़ी देवी की बात इस महीने से अगले महीने तक साबित होगी. नीतीश कुमार ने लालू यादव के सानिध्य में राजनीति की है. लालू यादव नीतीश कुमार के संबंध मधुर रहे हैं. एनडीए में नीतीश कुमार को अपमानित किया जा रहा है. कभी भी कुछ हो सकता है.

इस बीच पटना की सड़कों पर भी ऐसी कई पोस्टर लगाए गए हैं जिसमें दिखाया गया है कि सीएम नीतीश की कुर्सी को आरी से भाजपा नेता काट रहे हैं.  पोस्‍टरों पर नीचे राजद नेताओं के फोटो और नाम हैं जिनसे पता चल रहा है कि पोस्‍टर किसने लगवाए हैं. हालांकि जनता दल यू ने कहा है कि बिहार में कोई सियासी संकट नहीं है. राष्‍ट्रीय जनता दल और कांग्रेस सत्‍ता में आने के लिए परेशान हैं. इसी परेशानी में तरह-तरह की बयानबाजियों के साथ ही हथकंडे अपनाए जा रहे हैं जो सफल नहीं होने वाले हैं.



पटना के चौक-चौराहों पर लगे पोस्टर.

वहीं, बीजेपी सांसद अजय निषाद (BJP MP Ajay Nishad) ने कहा है कि नीतीश कुमार के एनडीए छोड़ने का सवाल ही नहीं है. दोबारा एनडीए में आने के बाद अब नीतीश कुमार कहीं नहीं जाएंगे. जेडीयू-बीजेपी में थोड़ी असहमति है भी तो उसे ख़त्म कर दिया जाता है. जेडीयू-बीजेपी, दोनों चाहती है कि सरकार पूरे पांच साल चले. विकास के मुद्दे पर हमें काम करना है.

भाजपा सांसद ने बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार में देरी पर कहा कि बड़ी पार्टी होने के बावजूद बीजेपी ने जब मुख्यमंत्री का बड़ा पद दे दिया तो बीजेपी के मंत्री कम भी बनते हैं तो भी कोई परेशानी नहीं होगी. सब ठीक रहेगा. लालू यादव का ऑडियो वायरल हुआ था जब उस वक़्त  टूट नहीं हुई तो अब जेडीयू या भाजपा में  टूट की कोई आशंका नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज