बिहार: RJD में टूट की खबरों से बढ़ी सियासी हलचल, JDU बोली- दलबदल कानून से नहीं पड़ता कोई फर्क
Patna News in Hindi

बिहार: RJD में टूट की खबरों से बढ़ी सियासी हलचल, JDU बोली- दलबदल कानून से नहीं पड़ता कोई फर्क
बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

JDU प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि तेजस्वी यादव Tejashwi Yadav() पर आरजेडी (TJD) नेताओं को भी भरोसा नहीं रह गया है, उन्हें भविष्य की चिंता सताने लगी है .

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) अक्टूबर-नवंबर में संभावित है. जाहिर है सियासी दल व गठबंधन एक दूसरे को मात देने की सारी रणनीति बनाने में लग गए हैं. इसी क्रम में दलबदल का सिलसिला भी तेज होता जा रहा है. गुरुवार को जहां आरजेडी ने जेडीयू (JDU) के एक बड़े कद्दावर नेता को पार्टी ज्वाइन करवाया, वहीं शनिवा. को आरजेडी में टूट की खबरों से सियासी हलचल मचती रही. कहा जा रहा है कि कुछ बड़े नेता जल्दी ही आरजेडी छोड़ जेडीयू ज्वाइन करने वाले हैं. बता दें कि राजद (RJD) के प्रदेश उपाध्यक्ष रह चुके विजेंदर यादव (Vijendra Yadav) 7 जुलाई को जेडीयू (JDU) का दामन थाम लेंगे, लेकिन थामने के पहले ही उन्होंने बड़ा दावा कर दिया है और शाहाबाद में बड़ी टूट की बात कही है.

 जेडीयू का दावा
हालांकि जेडीयू की ओर से कहा जा रहा है कि आगे-आगे देखिये होता है क्या? पार्टी के प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि तेजस्वी यादव पर आरजेडी नेताओं को भी भरोसा नहीं रह गया है. उन्हेंभविष्य की चिंता सताने लगी है इसलिए संभावित टूट को रोक पाना तेजस्वी के बस का नहीं है. उन्होंने कहा कि आरजेडी के नेता निकलने के लिए बेताब हैं. चुनाव नजदीक है इस कारण लोग शामिल होने को तैयार भी और अब  दल बदल कानून का भी कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है.

आरजेडी ने नकारा
हालांकि आरजेडी ने संभावित टूट को नकारते हुए कहा कि जेडीयू टूट के सपने देख रही है. पार्टी के नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि जेडीयू डूबती नाव है और इसमें कोई क्यों सवार होना चाहेगा. बिहार की 12 करोड़ जनता के दिल मे लालू हैं और आरजेडी के सभी विधायक एकजुट हैं.



कांग्रेस ने ये कहा
वहीं इस मामले में  कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि जेडीयू स्वागत को तैयार है पर जाएगा कौन? बाहर से जाने वालों को जेडीयू में कोई सम्मान नहीं मिलता है. जेडीयू हार के डर से आरजेडी के टूटने की बात कह रही है. हकीकत है कि बीजेपी जेडीयू को तोड़ने में लगी हुई है.

क्या है सीन?
बता दें कि राजद विधायकों को लेकर कुछ दिन पहले ही ललन सिंह ने भी भविष्यवाणी की थी कि हम ये दावा नहीं कर रहे हैं कि दूसरी पार्टी के विधायक हमारे संपर्क में हैं. राजद जैसी पार्टी में रहना कौन चाहता है, इंतजार कीजिए. गौरतलब है कि राजद विधायक महेश्वर यादव पहले ही कह चुके हैं कि नीतीश जी बस इशारा कर दें, हम उसी पल उनके पास आ जाएंगे. हमारे जैसे और भी कई विधायक हैं जो नीतीश जी की हां का इंतजार कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading