होम /न्यूज /बिहार /पिता की राजनीति को धार दे रहे कई नेता पुत्र, सोशल मीडिया पर संभाल रहे मोर्चा

पिता की राजनीति को धार दे रहे कई नेता पुत्र, सोशल मीडिया पर संभाल रहे मोर्चा

आशीष सिन्हा और अरिजीत सारस्वत

आशीष सिन्हा और अरिजीत सारस्वत

रामकृपाल यादव के पुत्र अभिमन्यु यादव, आर के सिंहा के पुत्र रितुराज सिंहा, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के पुत्र आदित ...अधिक पढ़ें

    कहावत है 'बापे पूत परापत घोड़ा, बहुत नहीं तो थोड़ा थोड़ा'. ये कहावत बिहार की राजनीति में सटीक बैठ रही है. अब नेता पुत्र अपने पिता की राजनीति चमकाने में लगे हैं. बिहार की राजनीति में ऐसे कई नाम हैं जो अपने पिता के नाम पर खड़े हुए लेकिन बदले दौर की राजनीति में वे पिता की राजनीति चमकाने के लिए सहारा बन गए हैं.

    इनमें केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के पुत्र अरिजीत चौबे कुछ अधिक ही एक्टिव हैं. इनका दावा है कि ये बचपन से ही स्वंय सेवक रहे हैं. पिता के नाम के बल पर राजनीति के आसरे इतना आगे बढ़ गए कि कि अरिजीत बीजेपी के फायर ब्रांड नेता हो गए.

    ये भी पढ़ें कीर्ति आजाद के विवादित बोल- मैं खांटी कांग्रेसी, पिताजी और मेरे लिए लूटे जाते थे बूथ

    भागलपुर में रामनवमी के दौरान हुए दंगे के आरोप में अरिजीत जेल भी गए. अब उनका नाम ही इतना बढ़ गया है कि अपने पिता के क्षेत्र में मोर्चा संभाल रहे हैं. वे सोशल मीडिया से लेकर पार्टी संगठन तक में अपने पिता के कार्यों की देखरेख कर रहे हैं.

    बीजेपी विधायक और बीजेपी के मुख्य सचेतक अरुण सिंहा के पुत्र आशीष सिंहा पेशे से वकील हैं. साथ ही वे बीजेपी युवा मोर्चा के पदाधिकारी भी हैं. उनको अपने पिता का सहारा उस समय मिला जब वो पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ का चुनाव लड़ रहे थे. तब वे भरी मतों से विजयी हुए थे.

    युवाओं में स्थापित हो चुके आशीष अब पिता की राजनीति को चमकाने में लगे हैं. वे कहते हैं कि जब एक परिवार एक साथ मिलकर लड़ाई लड़ता है तो जीत की संभावना अधिक रहती है. ऐसे में पिता की राजनीति में उनका सहयोग करना लाजिमी है.

    ये भी पढ़ें-  बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे कन्हैया कुमार, CPI की जिला कमेटी ने लगाई नाम पर मुहर

    वरिष्ठ पत्रकार अरुण पाण्डेय बताते है कि ये ट्रेंड चल निकला है. पहले नेता अपने बेटों को स्थापित करते हैं फिर उनके सहारे अपनी राजनीति भी मजबूत करते हैं. हालांकि इनकी पूरी राजनीति एक परिवार के इर्दगिर्द ही घूमती रह जाती है.

    रामकृपाल यादव के पुत्र अभिमन्यु यादव, आर के सिंहा के पुत्र रितुराज सिंहा, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के पुत्र आदित्य शंकर, रामजतन सिंहा के पुत्र अमित सिंहा सहित कई नेता हैं जिनके पुत्र सक्रिय राजनीति में तो हैं ही अपने पिता की राजनीति को मजबूती प्रदान करने में लगे हैं.

    रिपोर्ट- बृजम पांडे

    ये भी पढ़ें- तेजस्वी के इस पूर्व बंगले में क्या है खास जिसके आगे राजभवन और CM HOUSE भी फेल है!

    Tags: Bihar News, PATNA NEWS, Ram Kripal Yadav, Ravishankar prasad

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें