Home /News /bihar /

politics on logo in bihar jdu said on bjp demand nitish kumar believe in making not change brvj

प्रतीक चिन्ह पर सियासत! भाजपा की मांग पर जदयू- नीतीश कुमार को बदलने में नहीं बनाने में यकीन!

बिहार के प्रतीक्ष चिन्ह को लेकर एनडीए में जदयू और भाजपा में एकमत नहीं.

बिहार के प्रतीक्ष चिन्ह को लेकर एनडीए में जदयू और भाजपा में एकमत नहीं.

Bihar NDA Politics: बिहार एनडीए में सब कुछ ठीक ठाक होने का भले ही दावा किया जाता है; लेकिन शायद ही कोई ऐसा मौका हो जब बीजेपी और जेडीयू में आमना-सामना नहीं होता हो. अब नया मामला बिहार के लोगो (प्रतीक चिन्ह ) का है जिस पर भाजपा और जेडीयू में एकमत नहीं दिख रहा है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार सरकार के लोगो यानी प्रतीक चिन्ह को लेकर बिहार में नया सियासी बखेड़ा खड़ा हो गया है. बिहार के लोगो पर सत्ताधारी दल जेडीयू और बीजेपी में गतिरोध दिखने लगा है. दरअसल; बिहार में बीजेपी ने बिहार के प्रतीक चिन्ह को ही बदलने की मांग की है. भाजपा के विधायक संजीव चौरसिया ने बिहार सरकार के द्वारा प्रयोग में लाए जाने वाले प्रतीक चिन्ह के बजाय लोक सभा के सेंट्रल हॉल लगाए गए प्रतीक चिन्ह का उपयोग करने की सलाह दी है. इस प्रतीक चिन्ह में बौद्ध वृक्ष , पाटलिपुत्र की दीवार और स्वास्तिक के साथ जो लोगो प्रदर्शित किया गया है.

भाजपा विधायक का मानना कि संसद में जो प्रतीक चिन्ह इस्तेमाल हो रहा वह ज्यादा उपयुक्त है. बिहार सरकार इसी चिन्ह का इस्तेमाल करे. इसको लेकर बिहार विधान सभा में भी एक गैर सरकारी संकल्प भी दिया गया है. हालांकि, बीजेपी की मांग पर जदयू ने कड़ा ऐतराज जताया है. जेडीयू एमएलसी खालिद अनवर ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बदलने में विश्वास नहीं रखते हैं, वे बनाने में विश्वास रखते हैं.

बिहार में कुछ भी नहीं बदलने जा रहा है, जो पुरानी परंपरा है और पूर्व से जिस लोगो का इस्तेमाल किया जा रहा है उसी का इस्तेमाल होता रहेगा. जो लोग नीतीश कुमार को नहीं जानते हैं; वे जान लें, बिहार में ना तारीख बदलेगी ना ही किसी शहर का नाम और ना ही वर्षों पुराना बिहार का प्रतीक चिन्ह बदलेगा.

प्रतीक चिन्ह को लेकर एतराज सिर्फ जेडीयू और भाजपा को नहीं है. दरअसल बिहार विधान सभा परिसर में नवनिर्मित बिहार का प्रतीक चिन्ह का जल्द ही पीएम मोदी अनावरण करने वाले हैं .इस प्रतीक चिन्ह को लोक सभा के सेंट्रल हाल में लगे प्रतीक चिन्ह के जैसा ही निर्माण कराया गया है. राजद ने इस पर भी आपत्ति जताई है.

बीजेपी और जेडीयू से अलग राजद की मांग है कि इस प्रतीक चिन्ह से स्वास्तिक को हटाया जाए. राजद ने बीजेपी की मांग पर भी एतराज जताते हुए कहा कि देश संविधान से चलता है. बीजेपी संविधान को ही बदलना चाहती है. बहरहाल, अब इस मुद्दे पर भाजपा-जदयू आमने-सामने है और राजद व जदयू का एक सुर है. ऐसे में देखना दिलचस्प रहेगा कि आखिर प्रतीक चिन्ह पर शुरू हुई सियासत कौन सा मोड़ लेती है.

Tags: Bihar NDA, Bihar News, Bihar politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर