बिहार में छिड़ा पोस्टर वार: अब RJD ने दिखाया गरीबों का राज Vs अपराधियों का राज

आरजेडी समर्थकों द्वारा जारी पोस्टर में लालू-राबड़ी शासन काल को गरीबों का राज करार दिया गया है जबकि सीएम नीतीश कुमार के कार्यकाल को अपराधियों का राज कहा गया है.

एक पोस्टर पटना के इनकम टैक्स चौराहे पर लगाया गया है वहीं दूसरा राजद कार्यालय के गेट पर लगा है. इसमें सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की तस्वीरें चस्पा की गई हैं.

  • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly election) में अभी 9 महीने शेष हैं, लेकिन सियासी दल अपनी रणनीतियों का काफी हद तक खुलासा करते जा रहे हैं कि वे किन मुद्दों पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं. इसकी शुरुआत गुरुवार को पटना शहर के बीचोंबीच इनकम टैक्स चौराहे पर एक बड़ा पोस्टर लगने के साथ हुई थी. इसमें सीएम लालू-राबड़ी (Lalu-Rabri) शासन काल के 15 साल और सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के शासन काल के 15 साल की तुलना की गई थी. 'हिसाब दो-हिसाब लो' शीर्षक से जारी इस पोस्टर में लालू-राबड़ी के शासनकाल को जंगलराज और सीएम नीतीश के शासन को सुशासन दिखाने की कोशिश की गई थी. वहीं आज इसके जवाब में आरजेडी (RJD) ने एक नया पोस्टर जारी कर दिया है.

    इस पोस्टर में भी 15 साल बनाम 15 साल की तुलना करते हुए लालू-राबड़ी शासन काल को गरीबों का राज और सीएम नतीश के शासन काल को अपराधियों का राज कहा गया है. इसमें गरीबों का राज वाले सेक्शन में लालू यादव को गरीबों का मसीहा दिखाने की कोशिश की गई है जबकि सीएम नीतीश कुमार के शासन काल की अपराध की उन घटनाओं को दर्शाया गया है जो मीडिया की सुर्खियों में रही.

    इसी तरह राजद कार्यालय के गेट पर भी दूसरा पोस्टर लगाया गया है. इसमें सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की तस्वीरें चस्पा की गई हैं. एक में सीएम नीतीश अपने सिर पर टोकरी लिए हुए जिसपर झूठ की टोकरी लिखा गया है और इसमें सीएम नीतीश द्वारा किए गए कई वादों की बात की गई है और इसे झूठा करार देने की कोशिश की गई है.

    राष्ट्रीय जनता दल के पटना स्थित कार्यालय के बाहर चस्पा किया गया पोस्टर


    वहीं सुशील मोदी की टोकरी को जुुमलों की टोकरी कहा गया है. इसमें राम मंदिर, काला धन जैसे वादे याद दिलाने की कोशिश की गई है जिस पर बीजेपी वादा कर सत्ता में आई थी. सबसे खास बात ये है कि इस पोस्टर में ये भी लिखा गया है कि ये नीति आयोग भारत सरकार द्वारा प्रमाणित है.

    बता दें कि गुरुवार को जारी एक पोस्‍टर में एक हिस्‍से में राबड़ी देवी पति लालू यादव से बात करती हुई दिख रही हैं. इस हिस्‍से में कोलाजनुमा तस्‍वीरें भी थीं, जिनमें गड्ढे वाली टूटी सड़क, लाशें, लालटेन और चारा घोटाले को दिखाने वाले फोटो लगे हैं.

    Posterwar in Bihar
    पटना के इनकम टैक्‍स चौराहे पर पोस्‍टर लगाया गया है.


    दूसरी तरफ, मुस्‍कुराते हुए नीतीश कुमार की तस्‍वीर लगी थी. इसमें मुख्‍यमंत्री को हाथ जोड़े हुए दिखाया गया था. साथ ही पोस्‍टर के इस हिस्‍से में नई दुरुस्‍त सड़कें, ओवरब्रिज, बिजली के टावर, प्रयोगशाला में काम करते छात्र-छात्राएं और हंसते हुए बच्‍चे दिखाई दे रहे थे.

    इनपुट- अमित कुमार

    ये भी पढ़ेंः पटना में लगे पोस्‍टर में लालू-राबड़ी के साथ नीतीश, लिखा- हिसाब दो, हिसाब लो

    बिहार विधान सभा चुनाव से पहले क्या मोदी सरकार में शामिल होने जा रही JDU?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.