'कोरोना से तबाही है पर सरकारी तंत्र चुनाव की तैयारियों में व्यस्त', प्रशांत किशोर का CM नीतीश पर तंज
Patna News in Hindi

'कोरोना से तबाही है पर सरकारी तंत्र चुनाव की तैयारियों में व्यस्त', प्रशांत किशोर का CM नीतीश पर तंज
बिहार विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर प्रशांत किशोर का सीएम नीतीश पर तंज. (फाइल फोटो)

प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने अपने ट्वीट में लिखा, नीतीश कुमार (Nitish Kumar) जी ये चुनाव नहीं कोरोना से लड़ने का वक्त है. लोगों की ज़िंदगी को चुनाव कराने की जल्दी में खतरे में मत डालिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 11, 2020, 10:42 AM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में नयी सरकार का गठन नवंबर के आखिरी हफ्ते से पहले ही कर लिया जाना है. निर्वाचन आयोग (Election Commission) भी निर्धारित समय पर बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) की प्रक्रिया को आगे बढ़ा चुका है और जिलाधिकारियों, आरक्षी अधीक्षकों के साथ मीटिंग के बाद राजनीतिक दलों के साथ बैठक भी कर चुका है. अब उनके सुझावों के आधार पर चुनाव कार्यक्रम तय करने की कवायद जारी है. वहीं, राजनीतिक दलों ने भी चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी हैं. हालांकि राष्ट्रीय जनता दल, कांग्रेस (RJD-Congress) जैसी पार्टियां कोरोना काल में चुनाव नहीं करवाने की बात बार-बार उछाल रही हैं. इसको लेकर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को भी ये पार्टियां अपने निशाने पर ले रही हैं. इसी क्रम में लोक जनशक्ति पार्टी ने भी फिलहाल चुनाव टालने का सुझाव दिया है. अब इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor ) ने भी सीएम नीतीश को अपने टारगेट पर लिया है और चुनाव टालने की बात कही है.

प्रशांत किशोर ने अपने ट्वीट में लिखा, देश के कई राज्यों की तरह बिहार में भी कोरोना की स्थिति बिगड़ती जा रही है, लेकिन सरकारी तंत्र और संसाधनों का एक बड़ा हिस्सा चुनाव की तैयारियों में लगा है. नीतीश कुमार जी ये चुनाव नहीं कोरोना से लड़ने का वक्त है. लोगों की जिंदगी को चुनाव कराने की जल्दी में खतरे में मत डालिए.


बता दें कि शुक्रवार को एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी फिलहाल चुनाव टालने की मांग की है. उन्होंने ट्वीट में लिखा, कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं पूरा देश प्रभावित है. कोरोना के कारण आम आदमी के साथ-साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है. ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा. संसदीय बोर्ड के सभी सदस्यों ने इस विषय पर चिंता जताई है.



बता दें कि इससे पहले राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejaswi Yadav) भी चुनाव टालने की बात बार-बार कही है. उन्होंने कहा कि चुनाव के नाम पर बड़ी आबादी को खतरे में झोंकना ठीक नहीं है. आयोग को इन बातों पर ध्यान रखकर फैसला लेना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading