लाइव टीवी

...तो PK ने शिवसेना को दिखाया था CM की कुर्सी का सपना, BJP ने 'महाराष्‍ट्र के महाभारत' के लिए ठहराया जिम्‍मेदार

News18 Bihar
Updated: November 13, 2019, 9:04 AM IST
...तो PK ने शिवसेना को दिखाया था CM की कुर्सी का सपना, BJP ने 'महाराष्‍ट्र के महाभारत' के लिए ठहराया जिम्‍मेदार
BJP-शिवसेना गठबंधन टूटने के लिए PK को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. (फाइल फोटो)

जेडीयू नेता अजय आलोक (Ajay Alok) ने भी प्रशांत किशोर पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि 'मास्टर स्ट्रैटेजिस्ट' से ज्ञान लेने का नतीजा अब सभी लोग देख रहे हैं.

  • Share this:
पटना. महाराष्ट्र (Maharashtra) में सियासी उठापटक के बीच बीजेपी ने चुनावी रणनीतिकार और जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) पर हमला बोला है. भाजपा नेता प्रीति गांधी ने एनडीए गठबंधन से शिवसेना (Shiv Sena) के अलग होने के लिए प्रशांत किशोर को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि प्रशांत किशोर ले डूबे. वहीं, जेडीयू नेता अजय आलोक (Ajay Alok) ने भी प्रशांत किशोर पर तंज कसा है. उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से किशोर पर हमला बोलते हुए कहा है कि 'मास्टर स्ट्रैटेजिस्ट' के कारण ही महाराष्ट्र में ऐसा हाल हुआ है. दरअसल, माना जा रहा है की प्रशांत किशोर ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री का सपना दिखाया था. यही वजह है कि 50-50 फॉर्मूले के तहत शिवसेना ने बीजेपी से ढाई साल तक के लिए सीएम पद की मांग की थी, जिसे भाजपा ने ठुकरा दिया था. अंत में दोनों भगवा पार्टी के बीच ढाई दशक से भी पुराना गठबंधन टूट गया.




JDU नेता का तंज
जदयू नेता अजय आलोक ने ट्वीट कर कहा, 'एक हैं मास्टर स्ट्रैटेजिस्ट. पिछले कुछ दिनों से शिवसेना उनसे ज्ञान ले रही थी. नतीजा सब देख रहे हैं. अब महामहिम ने और समय नहीं दिया. लगता है इस पहलू पर मास्टर साहब ने ध्यान नहीं दिया होगा. नतीजा न तीन में न तेरह में. कहते हैं न गफ़लत में सब गए, माया मिली न राम. जय मातर साब.'


उद्धव ठाकरे के सलाहकार हैं प्रशांत किशोर
प्रशांत किशोर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के सलाहकार के रूप में काम कर रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक, PK की सलाह पर ही उद्धव ठाकरे के मन में मुख्यमंत्री बनने की इच्छा जगी. इसके बाद महाराष्ट्र में गद्दी के लिए महाभारत शुरू हो गया. माना जा रहा है की प्रंशात किशोर इसके जरिये एक तीर से दो निशाना बना रहे हैं, जिसमें अगले साल बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू को सीटों के बंटवारे में बीजेपी पर दबाव बनान आसान होगा, तो वहीं इस 'गेम' से वर्ष 2024 के चुनाव में नीतीश कुमार के महत्वकांक्षा को बल मिलेगा.

महराष्‍ट्र में चुनाव से पहले उद्धव से हुई थी मुलाकात
जानकारी के मुताबिक, प्रशांत किशोर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से चुनाव से पहले मिलने गए थे. उस वक्त यह करार हो गया था कि प्रशांत शिवसेना को बीजेपी से निपटने का गुर बताएंगे और चुनाव बाद वही हुआ भी. लेकिन, इसको लेकर अब जेडीयू पर अंगुलियां उठने लगी हैं तो पार्टी इससे पल्ला झाड़ रही है. वहीं, विपक्ष में बैठे नेताओं को हमला करने का मौका मिल गया है.

ये भी पढ़ें- 
क्या नियोजित शिक्षकों के 'गुस्से' से डर रहे हैं CM नीतीश?

नाबालिग लड़कियों से 'आदतन' गंदी हरकतें करता था मौलाना, पढ़ें पूरा मामला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 8:05 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर