लाइव टीवी

नागरिकता संशोधन विधेयक पर JDU के समर्थन से प्रशांत किशोर हुए निराश

Anand Amrit Raj | News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 7:51 AM IST
नागरिकता संशोधन विधेयक पर JDU के समर्थन से प्रशांत किशोर हुए निराश
प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने ट्वीट (Tweet) कर लिखा, जदयू के नागरिकता संशोधन विधेयक को समर्थन देने से मैं निराश हूं. यह विधेयक नागरिकता के अधिकार (Citizenship rights) से धर्म के आधार पर भेदभाव करता है.

प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने ट्वीट (Tweet) कर लिखा, 'जदयू के नागरिकता संशोधन विधेयक को समर्थन देने से मैं निराश हूं. यह विधेयक नागरिकता के अधिकार (Citizenship rights) से धर्म के आधार पर भेदभाव करता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 7:51 AM IST
  • Share this:
पटना. लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill 2019) को जनता दल (यू) द्वारा समर्थन करने पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) ने सोमवार को निराशा जाहिर की है. उन्होंने कहा कि विधेयक लोगों से धर्म के आधार पर भेदभाव करता है. देर रात लोकसभा में विधेयक पर मतदान होने के बाद जब वह पारित हो गया तब किशोर ने ट्वीट (Tweet) कर कहा कि यह विधेयक पार्टी के संविधान से मेल नहीं खाता.

उन्होंने ट्वीट में लिखा, 'जदयू के नागरिकता संशोधन विधेयक को समर्थन देने से मैं निराश हूं. यह विधेयक नागरिकता के अधिकार से धर्म के आधार पर भेदभाव करता है. यह पार्टी के संविधान से मेल नहीं खाता जिसमें धर्मनिरपेक्ष शब्द पहले पन्ने पर तीन बार आता है. पार्टी का नेतृत्व गांधी के सिद्धांतों को मानने वाला है.' विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए लोकसभा में जदयू के नेता राजीव रंजन उर्फ़ ललन सिंह ने कहा कि जदयू विधेयक का समर्थन इसलिए कर रही है क्योंकि यह धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ नहीं है.

प्रशात किशोर का ये हमला जेडीयू के अंदर घमासान बढ़ा सकता है. दरअसल बीजेपी के कई स्टैंड को लेकर प्रशातं किशोर ने पहले से ही सवाल उठाये थे. चाहे मामला धारा 370 का हो या तीन तलाक़ का. यहां तक की महाराष्ट्र में शिवसेना के कांग्रेस और NCP के साथ मिलकर सरकार बनाने पर भी इशारों-इशारों में बीजेपी पर हमला बोला था, लेकिन इन तमाम मामलों पर जेडीयू के स्टैंड पर कभी सवाल खंडा नहीं किया था.

जेडीयू के स्टैंड पर सीधा हमला
पहली बार नागरिकता संशोधन बिल पर जेडीयू के स्टैंड पर प्रशांत किशोर ने सीधा हमला कर नीतीश कुमार की समस्या बढ़ा दी है. क्योंकि कई बार उनके स्टैंड की वजह से बीजेपी के साथ संबंध पर असर पड़ रहा था. लेकिन नीतीश कुमार ने कभी भी प्रशांत किशोर के खिलाफ कुछ नही कहा.

जेडीयू के इस कदम पर कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने नीतीश पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि प्रशांत की बात का नीतीश कुमार को जवाब देना चाहिए. आख़िर नीतीश का सेक्यूलरिज़्म कहां गया. वहीं राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने प्रशांत किशोर की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि किशोर का सवाल उचित है. नीतीश को इसका जवाब देना चाहिए.

ये भी पढ़ें- सात घंटे की चर्चा के बाद लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास, शाह बोले- घुसपैठियों को जाना होगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 4:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर