• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बिहार आने वाले मजदूरोंं को लेकर तैयारी पूरी, पटना में बनाए गए 99 क्वारंटाइन सेंटर

बिहार आने वाले मजदूरोंं को लेकर तैयारी पूरी, पटना में बनाए गए 99 क्वारंटाइन सेंटर

ट्रेन से पटना पहुंचाने वाले मजदूरों और छात्रों को लेकर प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है.

ट्रेन से पटना पहुंचाने वाले मजदूरों और छात्रों को लेकर प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है.

बिहार (Bihar) आने वाले मजदूरों की जांच के लिए स्‍क्रीनिंग सेंटर (Screening Center) और क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Centers) पर भी पर्याप्त संख्‍या में डॉक्टर और नर्सो की ड्यूटी लगाई गई है.

  • Share this:
पटना.  केंद्र सरकार (Central Government) से अनुमति मिलने के बाद विभिन्‍न राज्‍यों में फंसे मजदूरों का अपने राज्‍यों के लिए आवागमन शुरू हो गया है. जयपुर (Jaipur) सहित कई शहरों से बिहार (Bihar) के लिए ट्रेने रवाना हो चुकी है. वहीं, शनिवार से बिहार में मजदूरों के  पहुंचने का सिलसिला शुरू हो जाएंगा. बिहार आने वाली पहली ट्रेन जयपुर से चलकर कल पटना के दानापुर स्टेशन पहुचेगी. वहां से सभी मजदूरो को ले जाने और क्‍वारंटाइन (Quarantine) करने की पूरी व्‍यवस्‍था जिला प्रशासन ने की है.

पटना जिला में तैयार किये गए 99 क्वारंटाइन सेंटर
दूसरे राज्‍यों से आने वाले मजदूरों के लिए जिला प्रशासन ने पटना जिला में 99 क्‍वारंटाइन सेंटर तैयार किये है. सभी मजदूरों को यहां 21 दिन तक क्‍वारेंटीन किया जाएगा. पटना सदर की बात करें तो 7 क्वारंटाइन सेंटर बनाये गए है. जिनमें गर्दनीबाग बालिका उच्च विद्यालय, गर्दनीबाग बालक उच्च विद्यालय, कमल नेहरू उच्च विद्यालय, कॉमर्स कॉलेज पटना, बांकीपुर गर्ल्स स्कूल पटना और राजेन्द्र नगर बालक उच्च विद्यालय में बनाये गए क्वारंटाइन सेंटर शामिल हैं.

दानापुर रेलवे हाई स्कूल में बना स्‍क्रीनिंग सेंटर
बाहर से जितने भी मजदूर पटना पहुंचेगे, पहले उनकी मेडिकल स्‍क्रीनिंग की जाएगी. इसके लिए दानापुर जंक्शन के ठीक बगल में स्थित रेलवे हाई स्कूल में स्‍क्रीनिंग सेंटर बनाया गया है. वहीं, जिला प्रशासन ने फैसला लिया है कि कोटा सहित अन्य राज्यों से आने वाले छात्रों को क्वारंटाइन सेंटर में नहीं रखा जाएगा, बल्कि उन्हें होम क्वारंटाइन किया जाएगा. सभी छात्र 21 दिन तक घरों में क्वारंटाइन रहेंगे.

दूसरे जिलों के मजदूरो को बसों से भेजने की तैयारी
अन्य राज्यों से पटना पहुंचने वाले मजदूरों को उनके जिलों तक पहुंचाने के लिए दानापुर जंक्शन पर 150 बसों को लगाई जाएंगी. सभी मजदूरों को स्‍क्रीन करने के बाद उसके जिला मुख्यालयों तक भेज जायेगा. वहां से संबंधित जिला प्रशासन की जिम्मेदारी होगी कि लोगों के प्रखण्डों में बने क्वारंटाइन सेंटर तक पहुंचाये. वहीं, मजदूरों को प्रखण्डों में बने क्वारंटाइन सेंटर तक ले जाने और वहां क्वारंटाइन करने और सभी सुविधाएं मुहैया कराने की जिम्मेदारी SDO को दी गई है. संबंधित अनुमंडल के SDO सभी सुविधाओं की मॉनिटरिंग करेंगे.





यह भी पढे़: 

Exclusive: 4 साल की बच्‍ची का दर्द सुनकर बेचैन हुए DM, मदद के लिए खुद पहुंच गए मासूम के घर
LOCKDOWN: श्रमिक स्पेशल ट्रेन 1200 श्रमिकों को लेकर जयपुर से पटना के लिए हुई रवाना

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज