पटना AIIMS में शुरू हो रहे Covaxin के Human Trial पर देश की नजर, केंद्रीय मंत्री ने दिए जरूरी निर्देश
Patna News in Hindi

पटना AIIMS में शुरू हो रहे Covaxin के Human Trial पर देश की नजर, केंद्रीय मंत्री ने दिए जरूरी निर्देश
कोवैक्सीन का ट्रायल पटना एम्स में भी होगा.

Fight against Corona: केंद्रीय राज्य मंत्री मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Chaubey) ने पटना एम्स (AIIMS) में वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल एवं प्लाज्मा बैंक की मौजूदा स्थिति और प्लाज्मा थेरेपी की जानकारी ली.

  • Share this:
पटना. 10 जुलाई से AIIMS पटना सहित अन्य चयनित संस्थानों में करीब 1100 से 1200 लोगों पर कोरोना वैक्सीन का ट्रायल शुरू किया जाएगा. ट्रायल दो फेज में हो रहा है और अधिकतम समय सीमा को लेकर अभी कोई डेडलाइन तय नहीं की गई है. शुरुआत में जानवरों पर सफल ट्रायल होने के बाद इसका क्लिनिकल ट्रायल शुरू होने वाला है. पटना एम्स में शुरू हो रहे कोवैक्सिन ट्रायल (Covaxin trial) को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Chaubey) ने आईसीएमआर के डीजी के साथ उच्चस्तरीय बैठक की और अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए. ICMR के डायरेक्टर जनरल प्रोफेसर बलराम भार्गव के साथ बैठक में पटना एम्स के साथ-साथ देश के सभी 12 संस्थानों में वैक्सिन की उपलब्धता की जानकारी ली. साथ ही तैयारियों से अवगत हुए.

प्लाज्मा थेरेपी को लेकर दिये आवश्यक निर्देश
इस दौरान मंत्री ने पटना एम्स में वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल एवं प्लाज्मा बैंक की मौजूदा स्थिति और प्लाज्मा थेरेपी की भी जानकारी ली. हाल ही में पटना एम्स में प्लाज़्मा थेरेपी शुरू हुई है, जिसको लेकर अधिकारियों को निर्देशित किया कि पटना एम्स के लगातार संपर्क में रहें और  जिस तरह की मदद की जरूरत हो उसे पूरा करने में सहयोग दें. आज से कोवैक्सिन के ह्यूमन ट्रायल को लेकर पटना एम्स के अधिकारियों से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े और ट्रायल की पूरी जानकारी ली. एम्स प्रबंधन ने भरोसा दिया है कि 5 सदस्यीय एक्सपर्ट डॉक्टरों की  टीमें गठित कर दी गयी है जो पहले फेज का कल से ट्रायल करेंगे. प्रबंधन ने भरोसा दिया कि विश्व स्तर पर स्वीकृत मापदंडों के अनुसार सभी प्रोटोकॉल्स का पालन करते हुए ट्रायल शुरू किया जा रहा है.

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए धैर्य और संयम की जरूरत
केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री कोअधिकारियों ने बिंदुवार इस संबंध में जानकारी दी. ट्रायल सफल होने के उपरांत भी वैक्सिन की उपलब्धता की कोई कमी न हो इसको लेकर भी मंत्री ने निर्देश दिया. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्ग निर्देशन में भारत को कोरोनावायरस से मुक्ति के लिए सभी महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं और मौजूदा समय में  धैर्य  संयम बरतने की जरूरत है. कोरोना के विरुद्ध जंग में धैर्य संयम एवं अनुशासन ही महत्वपूर्ण हथियार है. मंत्री ने लोगों से अपील की है कि कोरोनावायरस को लेकर लापरवाही न बरतें और बिना मास्क का बाहर नहीं निकलें जबतक कि वैक्सिन के सफल परीक्षण नहीं हो जाए.



उन्होंने अपील करते हुए कहा कि हाल ही में लापरवाही की वजह से बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हुए हैं जो कि चिंता का विषय है. इसलिएजो दिशा निर्देश हैं उसका पूरे अनुशासन के साथ देशवासियों को पालन करने की आवश्यकता है.  देशवासियों से इन्होंने कहा कि वैक्सीन को लेकर डॉक्टर वैज्ञानिक दिन-रात जुटे हुए हैं और जल्द ही इसमें सफलता भी मिलेगी और पूर्ण विश्वास है कि ह्यूमन ट्रायल भी सफल होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading