'सरकारी आम' पर बिफरीं राबड़ी देवी, बोलीं- जो खायेगा उसे गरीबों की आह लगेगी

राबड़ी देवी ने विधायकों को आम बांटने पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि बच्चों की मौत हो रही है और सरकार आम बांट रही है

News18 Bihar
Updated: July 3, 2019, 1:49 PM IST
'सरकारी आम' पर बिफरीं राबड़ी देवी, बोलीं- जो खायेगा उसे गरीबों की आह लगेगी
बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने राज्य की चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से इस्तीफे की मांग की है राबड़ी देवी की फाइल फोटो
News18 Bihar
Updated: July 3, 2019, 1:49 PM IST
बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने विधायकों को आम बांटने पर भी हमला बोला और कहा कि बच्चों की मौत हो रही है और सरकार आम बांट रही है. बीजेपी और जदयू के लोग सिर्फ आम खाएंगे लेकिन मैं कह रही हूं कि जो आम खायेगा उसे गरीबों की आह लगेगी. दरअसल सरकार ने विधायकों को मालदह आम और आम का पेड़ देने की पहल शुरू की. सरकार के आम देने की पहल को लेकर विपक्ष के कई नेताओं ने सरकार पर निशाना साधा है.

मंगल पांडेय से इस्तीफा

राबड़ी ने राज्य की चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से इस्तीफे की मांग की है. बुधवार विधानमंडल की कार्यवाही में भाग लेने पहुंची राबड़ी देवी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किए गए सरकार के हलफनामे पर कहा कि सरकार खुद कहती है कि बिहार में डॉक्टर नहीं हैं ऐसे में 15 साल सरकार ने क्या किया है. सूबे के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को शर्म आनी चाहिए और उनको इस्तीफा दे देना चाहिए.

विपक्ष हमलावर



मालूम हो कि बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र में मुजफ्फरपुर में एईएस से हो रही बच्चों की मौत को लेकर विपक्ष लगातार हमलावार है और स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग कर रहा है. बुधवार को बिहार विधानमंडल के सदस्यों को बांटने के लिए आम का फल और पौधे दोनों मंगवाए गए हैं जिसकी विपक्षी दलों ने तीखी आलोचना की है. आम बांटने के मामले में कांग्रेस के एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि इससे ज्यादा शर्मनाक बात और कुछ नहीं है. बच्चे मर रहे हैं और लोग आम बांट रहे हैं. कांग्रेस और राजद के कोई विधायक आम नहीं खायेगा जो आम खायेगा उसका पेट खराब होगा.


इनपुट- रवि एस नारायण


ये भी पढ़ें- AES से मुजफ्फरपुर में फिर 3 बच्चों की मौत, 141 पहुंचा आंकड़ा


Loading...

ये भी पढ़ें- पटना में युवक पर ताबड़तोड़ फायरिंग, बाल-बाल बची जान

First published: July 3, 2019, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...