लाइव टीवी

लालू के 'ब्रह्म बाबा' खुद को RJD का 'मुख्य अतिथि' क्यों मानने लगे?

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: January 26, 2020, 9:55 AM IST
लालू के 'ब्रह्म बाबा' खुद को RJD का 'मुख्य अतिथि' क्यों मानने लगे?
आरजेडी के सीनियर नेता रघुवंश प्रसाद सिंह पार्टी में अनुशासन के नाम पर सख्ती से नाराज बताए जाते हैं.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने News 18 से बात करते हुए कहा कि नियम क़ानून की भी अपनी मर्यादा होती है. मर्यादा का पालन उतना ही होना चाहिए जिससे किसी को कष्ट न हो.

  • Share this:
पटना. क्या खुद को राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में उपेक्षित महसूस कर रहे हैं वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह? आखिर जिस दिग्गज नेता को आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) जिन्हें 'ब्रह्म बाबा' कहकर सम्मान देते थे वे आज खुद को आरजेडी (RJD) का मुख्य अतिथि क्यों बता रहे हैं?  दरअसल रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh prasad Singh) का दर्द तब छलक पड़ा जब शुक्रवार को कर्पूरी जयंती के मौक़े पर राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh) ने सख़्ती दिखाते हुए कई कार्यकर्ताओं को नियम क़ानून का हवाला दे राजद कार्यालय से बाहर कर दिया था.

दरअसल जिस वक़्त ये वाक़या हुआ उस वक़्त रघुवंश सिंह भी मौजूद थे. जिन्हें राजद कार्यालय में प्रवेश नहीं मिला उन्होंने रघुवंश सिंह तक अपनी बात पहुंचाई. इस पर एक बार फिर रघुवंश सिंह ने राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के नियम क़ानून पर इशारों में सवाल खड़ा कर दिया था.

रघुवंश प्रसाद सिंह ने News 18 से बात करते हुए कहा कि नियम क़ानून की भी अपनी मर्यादा होती है. मर्यादा का पालन उतना ही होना चाहिए जिससे किसी को कष्ट न हो. लोकतंत्र में आत्म अनुशासन होता है, इसमें कोई हेडमास्टर और कमांडर नहीं होता है.  किसी भी चीज में आम आदमी की राय से करनी चाहिए. कोई भी काम मर्यादा में करनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि राजद कार्यालय में ताला लगा दिया जाता है और कहा जाता है कि लोग गाड़ी लगा देते हैं. ऐसे तो समस्या बढ़ेगी.  हम अपनी बात कह रहे हैं, लेकिन इस पर फ़िलहाल कोई कुछ बोल नहीं रहा है पर मैं अपनी और कार्यकर्ताओं की बात उठाता रहूंगा.

कर्पूरी जयंती पर तेजस्वी यादव के साथ जगदानंद सिंह और रघुवंश प्रसाद सिंह.


न्यूज 18 से बात करते हुे रघुवंश सिंह ने पार्टी पर भी एक कहावत के जरिए बड़ा इशारा कर दिया. उन्होंने कहा, कहावत है धन घटल जाय हुकूमत बढ़ल जाए. पार्टी से लोग कट रहे हैं और कानून बढ़ रहा है. इसके साथ ही उन्होंने अपनी मजबूरी का हवाला अपने दर्द को बयान कर कह दिया कि  राजद में मेरी भूमिका मुख्य अतिथि की हो कर रह गई है.

ग़ौरतलब है कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह तेजस्वी के बेहद ख़ास बताए जाते हैं. रघुवंश सिंह जब हमला बोल जगदानंद सिंह पर नियम क़ानून के बहाने सवाल उठाते हैं तो तेजस्वी चुप्पी साध लेते हैं.ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 26, 2020, 9:29 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर