लाइव टीवी
Elec-widget

लालू के करीबी नेता का दावा- बिहार में फिर साथ आ सकती है JDU-RJD

News18 Bihar
Updated: November 30, 2019, 1:42 PM IST
लालू के करीबी नेता का दावा- बिहार में फिर साथ आ सकती है JDU-RJD
नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद के साथ मिलकर बिहार में सरकार बनाई थी, लेकिन ये दोस्ती बाद में टूट गई. (फाइल फोटो)

पूर्व मंत्री और जेडीयू के वरिष्ठ नेता राम लषन राम रमन ने कहा कि रघुवंश सिंह वरिष्ठ नेता हैं, वो क्या बोले इसे हमें मतलब नहीं है. आज एनडीए पूरी तरह एकजुट है, लेकिन राजनीति में कल क्या हो कौन जानता है ? राजनीति में कुछ भी संभव है?

  • Share this:
पटना. महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर के बाद शिव सेना (Shiv Sena) ने बीजेपी (BJP) के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन को छोड़ कांग्रेस और एनसीपी  (Congress and NCP) से गठजोड़ कर सरकार बना ली. अब इसका असर बिहार की राजनीति पर भी पड़ता दिख रहा है. राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuwansh Prasad Singh) ने बड़ा दावा करते हुए कहा के कि महाराष्ट्र (Maharashtra) की राजनीति का साइड इफ़ेक्ट जल्दी ही बिहार में भी देखने को मिल सकता है.

राजद के वरिष्ठ नेता ने दावा किया है कि बहुत जल्द बिहार मे बड़ा राजनीतिक उलटफेर हो सकता है. जेडीयू-आरजेडी के बीज अंदरखाने बातचीत शुरू हो गई है और आरजेडी को भी जेडीयू के साथ जाने से कोई ऐतराज नहीं है.

बता दें कि बीते सितंबर में भी रघुवंश प्रसाद सिंह ने दावा किया था कि जेडीयू और आरजेडी में अंदरखाने बातचीत शुरू हो गई है और बहुत जल्द इसका परिणाम भी सामने आ जाएगा. उन्होंने तब कहा था कि बीजेपी (BJP) नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को फ़िनिश करना चाहती है, इस वजह से वे राजद के साथ आएंगे.

राजद के सीनियर नेता और लालू यादव के करीबी रघुवंश प्रसाद सिंह ने दावा किया है कि महाराष्ट्र की राजनीति में उलटफेर के बाद बिहार में आरजेडी-जेडीयू के बीच बातचीत शुरू हो चुकी है.  (File Photo)


गौरतलब है कि जिस तरह शिव सेना ने चुनाव बाद गठबंधन तोड़ कांग्रेस-एनसीपी के साथ महाराष्ट्र में सरकार बना ली ठीक ऐसा ही वाकया बिहार में वर्ष 2017 में हो चुका है. तब वर्ष 2015 में सीएम नीतीश कुमार की जेडीयू और लालू प्रसाद यादव की आरजेडी ने साथ चुनाव लड़ा, जीते और सरकार भी बनाई. लेकिन,  वर्ष 2017 में सीएम नीतीश कुमार ने पाला बदल लिया और भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर सरकार बना ली.

हालांकि जेडीयू ने रघुवंश प्रसाद सिंह के बयान का खंडन नहीं किया है. पूर्व मंत्री और जेडीयू के वरिष्ठ नेता राम लषन राम रमन ने कहा कि रघुवंश सिंह वरिष्ठ नेता हैं, वो क्या बोले इसे हमें मतलब नहीं है, लेकिन आज एनडीए पूरी तरह एकजुट है. लेकिन राजनीति में कल क्या हो कौन जानता है ? राजनीति में कुछ भी सम्भव है?

बहरहाल एक बार फिर बिहार सुर्खियों में है क्योंकि यहां अगले साल अक्टूबर-नवंबर के महीने में विधान सभा का चुनाव होना है और तेजी से बदलते राजनीतिक समीकरणों के बीच राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuwansh Prasad Singh) ने एक बार फिर अपने बयान से बिहार की राजनीति (Bihar Politics) में हलचल ला दी है.
Loading...

इनपुट- आनंद अमृतराज

ये भी पढ़ें

बिहार: क्या कांग्रेस आने वाले समय में RJD से अलग होने की सोच रही है?

महाराष्ट्र में टूटा 'राजनीति का भ्रम' ! क्या बिहार पॉलिटिक्स पर भी पड़ेगा असर?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 1:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...