मानहानि केस में पटना कोर्ट ने राहुल गांधी को दी जमानत

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राहुल गांधी पर लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान जाति सूचक शब्दों के इस्तेमाल किए जाने को लेकर मानहानि का मुकदमा दायर किया था.

News18 Bihar
Updated: July 6, 2019, 2:30 PM IST
मानहानि केस में पटना कोर्ट ने राहुल गांधी को दी जमानत
मानहानि केस में पेशी के लिए पटना पहुंचे राहुल गांधी
News18 Bihar
Updated: July 6, 2019, 2:30 PM IST
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को मानहानि केस मामले में पटना की अदालत ने जमानत दे दी है. शनिवार को सुनवाई के बाद कोर्ट ने उन्हें बेल दी. दिल्ली से शनिवार सुबह पटना पहुंचे राहुल गांधी सिविल कोर्ट स्थित एमपी-एमएलए कोर्ट में जज के सामने पेश हुए.

बता दें कि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने उनपर जाति सूचक शब्दों के इस्तेमाल किए जाने को लेकर मानहानि का मुकदमा दायर किया था. इस मामले की सुनवाई पटना के एमपी एमएलए कोर्ट में होगी.



राहुल गांधी एमपीए एमएलए कोर्ट में जज कुमार गुंजन की कोर्ट के सामने पेश हुए और उन्होंने अपनी जमानत के लिए अपील की. हालांकि उन्होंने सीआरपीसी 205 के तहत पहले ही खुद के कोर्ट से अलग रहने की अनुमति मांगी है. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के वकील शंभू प्रसाद ने बताया कि राहुल गांधी की ओर से आत्मसमर्पण सह जमानत आवेदन दायर की गई है.
Loading...

राहुल गांधी की जमानत याचिका की प्रतिलिपि


राहुल गांधी की आगवानी के लिए बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल और बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा पहुंचे थे. इस बीच राहुल गांधी का चेहरा दिखाने के लिए कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में होड़ मची थी. इस बीच खबर है कि कोर्ट में सुनवाई के बाद राहुल गांधी मीडिया से भी बात कर सकते हैं.इसके लिए कोर्ट परिसर में मीडिया गैलरी बनाई गई है.

 

चुनाव प्रचार में 'मोदी' सरनेम वालों को कहा था चोर

बता दें कि राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान 13 अप्रैल को कर्नाटक के बेलूर क्षेत्र के ककोर में हुई एक चुनावी सभा में मोदी उपनाम वालों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. राहुल गांधी ने कहा था कि 'सभी चोरों का उपनाम मोदी क्यों है?' राहुल की इस टिप्पणी के बाद सुशील मोदी ने उनके खिलाफ केस दर्ज करवाया था.

सुशील मोदी ने किया था मानहानि का मुकदमा

सुशील मोदी ने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष ने यह टिप्पणी कर के उनकी छवि खराब की है. उन्होंने तब अदालत में केस दर्ज करते हुए कहा था कि एक टाइटल वाले सारे लोगों की छवि खराब करने की कोशिश करना एक आपराधिक कृत्य है और इसकी सजा उन्हें अदालत से मिलनी चाहिए.

IPC का धारा 500 के तहत मुकदमा

सुशील मोदी ने अदालत से अनुरोध किया कि राहुल गांधी की टिप्पणी पर मानहानि से संबंधित आईपीसी की धाराओं 499 और 500 के तहत संज्ञान लिया जाए और कांग्रेस अध्यक्ष को समन जारी कर के उनके खिलाफ सुनवाई की जाए. इसके बाद 27 अप्रैल को राहुल गांधी के खिलाफ समन जारी किया गया था. फिर 20 मई को उन्हें पेश होने को कहा गया था, लेकिन वो तय तिथि पर आ नहीं सके थे.

इनपुट- क्रांति कुमार/धर्मेंद्र

ये भी पढ़ें-


RJD की बैठक में पहुंचे तेजस्वी यादव, बोले- दूर की जा रही पार्टी की परेशानी




राबड़ी ने मतदाताओं को कहा 'बिकाऊ', JDU बोली-जनता ने अहंकार और भ्रष्टाचार को सिखाया सबक

First published: July 6, 2019, 1:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...