कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखे खत-'आप हैं तो हम हैं'
Patna News in Hindi

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखे खत-'आप हैं तो हम हैं'
बिहार युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को अपने खून से खत लिखा

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी शिकस्त के बाद 25 मई को राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि कांग्रेस वर्किंग कमिटी ने इसे स्वीकार नहीं किया है.

  • Share this:
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने पर आमादा हैं, वहीं बिहार कांग्रेस के युवा कार्यकर्ताओं ने उन्हें खून से खत लिखकर अपील की है कि वे अपने पद पर बने रहें. एक साथ कई कार्यकर्ताओं ने एक के बाद एक खून निकलवाया और राहुल गांधी के प्रति अपनी निष्ठा और भावनाओं का इजहार किया. अपने सभी कार्यकर्ताओं ने अपने खत प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा को सौंप दिया जो राहुल गांधी तक इसे पहुंचाएंगे.

लोकसभा चुनाव में हार के बाद दिया था इस्तीफा
गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी शिकस्त के बाद 25 मई को राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने इसे स्वीकार नहीं किया है. दूसरी ओर राहुल गांधी अपने फैसले पर अडिग हैं और बुधवार को भी उन्होंने साफ किया कि अब वह कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नहीं रहना चाहते.

राहुल गांधी को खत लिखने के लिए अपना खून निकलवाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता

51 सांसदों की मांग राहुल ने ठुकराई


बता दें कि बुधवार को कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई बैठक में पार्टी सांसदों ने उनसे इस्तीफा वापस लेने की मांग की थी, जिसे राहुल गांधी ने खारिज कर दिया. बैठक में राहुल समेत लोकसभा के 51 सांसद मौजूद थे.

कई कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने लिखा-इस्तीफा वापस लो राहुल


दिल्ली युवक कांग्रेस ने भी की इस्तीफा वापस लेने की मांग
खास बात यह है कि पूरे देश में अधिकतर राज्यों की कांग्रेस यूनिट राहुल गांधी के अध्यक्ष बने रहने की वकालत कर रहे हैं. बुधवार को दिल्ली युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता बुधवार को बड़ी तादाद में राहुल गांधी के सरकारी निवास पहुंच गए थे और वे मांग कर रहे थे कि  राहुल इस्तीफा वापस लें.

तरुण गोगोई ने कहा-विकल्प ढूंढे कांग्रेस
हालांकि असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने बुधवार को कहा कि यदि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बने नहीं रहना चाहते, तो उनका विकल्प बिना किसी देर के ढूंढना चाहिए. इससे पहले कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने भी कहा था कि गैर-गांधी भी कांग्रेस का अध्यक्ष बन सकता है, लेकिन गांधी परिवार को पार्टी में सक्रिय रहना होगा.

इनपुट- रवि एस नारायण

ये भी पढ़ें-

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को खून से लिखे खत-'आप हैं तो हम हैं'

बोले कुशवाहा-आत्मा झकझोरती तो इस्तीफा दे देते CM नीतीश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading