बिहार में पटना समेत कई जेलों में छापेमारी से हड़कंप! बेउर केंद्रीय कारा से 5 मोबाइल बरामद

पटना के बेउर जेल में छापेमारी (फाइल फोटो)

पटना के बेउर जेल में छापेमारी (फाइल फोटो)

Raid in Jail: करीब 3 महीने के अंतराल के बाद आज एक बार फिर से बिहार के अधिकतर जिलों की जेलों में छापेमारी की गई है. राज्य के सबसे बड़े आदर्श केंद्रीय कारा बेउर जेल में भी सुबह 4:30 बजे से तीन घंटे तक रेड हुई. 

  • Share this:

पटना. बिहार की कई जेलों में छापेमारी की गई है. पटना की बेउर जेल, मुजफ्फरपुर के शहीद खुदीराम बोस और मोतिहारी के सेंट्रल जेल समेत अनेक जेलों में छापेमारी की गई है. राजधानी पटना स्थित बिहार के सबसे बड़े बेउर जेल में सुबह साढ़े चार बजे से लगातार तीन घंटे तक जेल का कोना-कोना छान लिया गया. सदर एसडीओ और एसपी के नेतृत्व में हुई छापेमारी के दौरान जेल के अंदर से 5 मोबाइल, चार्जर, गांजा समेत कई आपत्तिजनक चीजें बरामद की गई हैं.

बिहार की जेलों से इन चीजों की बरामदगी ने एक बार फिर से जेल की आंतरिक व्यवस्था पर बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है. बता दें कि इसके पहले भी बेउर जेल के अंदर जब जिला अधिकारी के नेतृत्व में छापेमारी हुई थी तब काफी संख्या में मोबाइल और दूसरी आपत्तिजनक चीजें मिलने के बाद अधीक्षक और जेलर को निलंबित कर दिया गया था.

मुज़फ़्फ़रपुर के शहीद खुदीराम बोस सेंट्रल जेल में भी छापामारी की गई. अहले सुबह से एसडीेएम कुंदन कुमार के नेतृत्व में जेल को खंगाला गया. छापामारी में एसएसपी, सिटी एसपी, डीएसपी समेत कई थानों की की पुलिस के साथ ही बीएमपी के जवान भी शामिल रहे. अभी तक कोई सूचना बाहर नहीं आई है. बताया जा रहा है कि जेल के भीतर सभी वार्डो को खंगाला गया. इस औचक छापेमारी से जेल में हड़कंप मचा हुआ है.

वहीं, मोतिहारी सेंट्रल जेल में भी छापेमारी की गई है. सदर एसडीओ और डीएसपी के नेतृत्व में हुई इस रेड के लिए दस टीमें बनाई गई थीं. मिली जानकारी के अनुसार एक सिम और एक पेन ड्राइव बरामद किया गया है.  डीएम के निर्देश पर यह छापेमारी की गई थी. गया सेंट्रल जेल में भी छापेमारी की खबर है. अहले सुबह डीएम, एसएसपी के नेतृत्व में हुई  रेड में किसी भी तरह का आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ है.
इस बीच खबर है कि बक्सर में डीएम अमर समीर ने कोविड को लेकर बक्सर सेन्ट्रल जेल का औचक निरीक्षण किया. डीएम ने बताया कि निरिक्षण के दौरान कोई आपत्तिजनक सामान बरामद नहीं हुआ है. कोविड गाइडलाइंस के अनुसार कैदियों को जेल में रखने को लेकर निरिक्षण किया और जेल प्रशासन को इसका पालन करने की हिदायत दी गई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज