Assembly Banner 2021

Ayodhya Ram Mandir Nirman: गिरिराज सिंह बोले- यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक गुलामी का अंत

गिरिराज सिंह ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है. (फाइल फोटो)

गिरिराज सिंह ने राम मंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है. (फाइल फोटो)

Ram Janmabhoomi Puja: अयोध्या में होने वाले भूमि पूजन के कार्यक्रम को लेकर बनाए गए मंच पर पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत 5 लोग होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 5, 2020, 9:41 AM IST
  • Share this:
पटना. अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर (Ram Mandir Ayodhya) का शिलान्यास थोड़ी देर में ही होने वाला है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन के बाद मंदिर की नींव रखेंगे. भूमि पूजन की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. राम मंदिर के शिलान्यास समारोह (Ram Mandir Bhoomi Pujan) का शुभ मुहूर्त 32 सेकेंड का है, जो दोपहर बाद 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड तक रहेगा. इसको लेकर पूरे देश भर में उत्साह का माहौल है. राम भक्त अपने-अपने तरीकों से इस पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं. साथ ही उत्सवी माहौल में राम जन्मभूमि पर बनने वाले मंदिर को लेकर खुशियां मना रहे हैं.

इस कड़ी में केंद्रीय मंत्री और बिहार के बेगूसराय से बीजेपी के सांसद गिरिराज सिंह ने भी ट्वीट कर राम मंदिर के निर्माण पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. गिरिराज सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि यह भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक गुलामी का अंत भी है. गिरिराज ने अपने ट्वीट में लिखा है कि प्रभु श्रीराम अपनी ही जन्म भूमि पर अब काल्पनिक नहीं रहेंगे. यह केवल प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर की आधारशिला नहीं है, बल्कि भारत की सांस्कृतिक और धार्मिक गुलामी का अंत भी है. जय श्री राम.

 अयोध्या में होने वाले मुख्य समारोह सह राम जन्म भूमि के भूमि पूजन के कार्यक्रम में को लेकर बनाए गए मंच पर पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत केवल पांच लोग ही होंगे.
राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन कार्यक्रम में RSS प्रमुख मोहन भागवत मंगलवार को ही पहुंच चुके हैं. भागवत समेत डिप्टी सीएम केशव मौर्या, कारसेवक पुरम ट्रस्ट के अन्य सदस्य भी कारसेवक पुरम में ही रुके हैं. जबकि महंत नृत्य गोपाल दास अपने आवास मणिराम दास छावनी में हैं. वहीं, बाबा रामदेव व अवधेशानंद हनुमानगढ़ी के महंत कल्याण दास के आवास पर ठहरे हैं. सुबह 9:30 बजे तक सभी मेहमान राम जन्मभूमि परिसर पहुंच जाएंगे. 10:00 बजे राम जन्म भूमि की भूमि पूजन का अनुष्ठान शुरू हो जाएगा. बस पीएम मोदी के आने का इंतजार किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज