रामनवमी पर कोरोना का साया- बगैर भक्तों के हुई मंदिर में पूजा, चौखट पर मत्था टेकते दिखे लोग

पटना के महावीर मंदिर में हो रही पूजा

पटना के महावीर मंदिर में हो रही पूजा

Ram Navami Puja 2021: पटना में रामनवमी के मौके पर स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर लगातार दूसरे साल भी भक्तों के बगैर सूना दिखा. कोरोना के कारण मंदिर के गेट को भी बंद रखा गया था.

  • Share this:
पटना. देश भर में मनाये जा रहे रामनवमी पूजा (Ram Navami Puja 2021) के दौरान बुधवार को कोरोना (Corona Pandemic) का खौफ साफ दिखा. कोविड के चलते भगवान श्री राम के भक्तों में बहुत मायूसी दिखी. रामनवमी के मौके पर आज श्रद्धालुओं को न तो पटना में जुलुस निकालने की इजाजत मिली न ही महावीर मंदिर(Patna Mahaveer Temple) के अंदर जाने की अनुमति तो मायूस होकर भक्त मंदिर की चौखट पर ही माथा टेकने लगे. इस दौरान पटना के एक भक्त ने कहा कि आज भगवान से यही मन्नत मांगते हैं कि इस कोरोना से हमेशा-हमेशा के लिए हम सभी को मुक्ति मिल जाए.

पटना के हनुमान मंदिर पहुंचे एक भक्त राजू कुमार गोस्वामी ने तो यहां तक कह दिया कि जिस तरह से त्रेता युग में भगवान श्री राम ने रावण का वध किया था, ठीक उसी तरह आज इस कलयुग में कोरोना ने रावण का रूप ले लिया है इसलिए आज उन्होंने भगवान श्री राम से यह मन्नत मांगी है कि इस रावण रूपी कोरोना का अंत कर दें ताकि हम सभी इस महामारी से बच सकें. इन सबके बावजूद भी मंदिर के अंदर भगवान श्री राम का जन्मोत्सव बहुत धूमधाम से मनाया गया. रामकथा के साथ महाआरती भी हुई लेकिन कोविड के चलते इस भव्य कार्यक्रम को श्रद्धालु नहीं देख सके.

महावीर मंदिर न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने बताया कि कोविड के गाइडलाइंस के चलते मंदिर के चारों गेट को बंद कर दिया गया है लेकिन श्रद्धालुओं के लिए नवैद्यम के काउंटर जरूर खोले गए हैं ताकि सोशल डिस्टनसिंग का पालन करते हुए रामभक्त प्रसाद लेकर अपने-अपने घरों में पूजा कर सकें. आचार्य किशोर कुणाल का कहना है कि सदियों से रामनवमी के मौके पर महावीर मंदिर में श्रद्धालुओं के साथ धूमधाम से राम जन्मोत्सव मनाई जाती रही है लेकिन पिछले दो सालों से कोविड के चलते ना तो रामनवमी में वो पहले वाली रौनक है और ना ही शहर में शोभा यात्रा निकाली जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज