• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • मंत्री रामसूरत राय से इस्तीफे की मांग, पलटवार कर बोले- पहले तेजस्वी छोड़ें पद, जानें पूरा मामला

मंत्री रामसूरत राय से इस्तीफे की मांग, पलटवार कर बोले- पहले तेजस्वी छोड़ें पद, जानें पूरा मामला

नीतीश सरकार के मंत्री रामसूरत राय ने दे डाली नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को चुनौती...

नीतीश सरकार के मंत्री रामसूरत राय ने दे डाली नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को चुनौती...

बिहार विधानसभा में शराबबंदी पर बुधवार को सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच नोकझोंक जारी रही. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार के मंत्री रामसूरत राय से इस्तीफे की मांग की. लिहाजा रामसूरत सियासी अखाड़े में कूद पड़े और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को चुनौती दे डाली.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा कार्यवाही बुधवार को हंगामे की भेंट चढ़ गई. एक ओर जहां न्यूज़ 18 के द्वारा किया गया स्टिंग ऑपरेशन कॉकटेल की चर्चा थी तो दूसरी ओर बिहार सरकार के मंत्री भूमि एवं राजस्व मंत्री रामसूरत राय की चर्चा हो रही थी. विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के पहले ही आज विपक्ष के तेवर तल्ख थे. न्यूज़ 18 पर लगातार चल रहे ऑपरेशन कॉकटेल को लेकर विपक्ष प्रदर्शन कर ही रहा था कि अचानक मामला बिहार सरकार के मंत्री राम सूरत का सामने आ गया. मंत्री रामसूरत राय के भाई जमीन पर बनी स्कूल के कैंपस से भारी मात्रा में अवैध शराब पुलिस ने जब्त किया था. विपक्ष रामसूरत राय पर कार्रवाई की मांग कर रहा था. सदन की दूसरी पाली में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ही विधानसभा पहुंचे और उन्होंने इस पूरे मामले पर मंत्री पर कार्रवाई और सीएम नीतीश कुमार से जवाब मांगा. सत्ता पक्ष और विपक्ष में कई बार नोकझोंक भी हुई. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार भी मौजूद थे और बड़ी ही ध्यान से सभी की बातें सुन रहे थे.

मामला बिहार सरकार के मंत्री से जुड़ा हुआ था और हंगामा तेज थे. लिहाजा रामसूरत सियासी अखाड़े में कूद पड़े और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को चुनौती दे डाली. विधानमंडल के बाहर मीडिया से बात करते हुए राय ने कहा जिस स्कूल में शराब बरामदगी की बात हो रही है, वो मेरा स्कूल नही है. मेरे भाई के नाम पर जमीन है. उस स्कूल का एक स्टाफ वहां शराब लाया था जिस पर मुकदमा दर्ज किया गया. अगर मेरे भाई पर मामला दर्ज है तो मैं क्यों इस्तीफा दूं. मेरी छवि बिल्कुल बेदाग है. मैं इस्तीफा दूंगा तो तेजस्वी को भी इस्तीफा देना चाहिए. उनके उनके पिता भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद है. नेता प्रतिपक्ष के पद से पहले तेजस्वी इस्तीफा दें, तो मैं भी दूंगा इस्तीफा .



शराबबंदी पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच नोकझोंक जारी रही. सदन की कार्यवाही चलना मुश्किल हो रहा था. बढ़ते हंगामे को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा ने सोमवार को 10 बजे सभी दलीय नेताओ के साथ शराबबंदी पर बैठक करने की घोषणा की जिसके बाद विपक्ष का हंगामा शांत हुआ.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज