• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • आरसीपी सिंह ने JDU नेताओं और कार्यकर्ताओं को लिखा भावुक पत्र, जानिए, क्या कहा..?

आरसीपी सिंह ने JDU नेताओं और कार्यकर्ताओं को लिखा भावुक पत्र, जानिए, क्या कहा..?

JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद आरसीपी सिंह ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के प्रति भावुक पत्र लिखा है. (File Photo)

JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद आरसीपी सिंह ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के प्रति भावुक पत्र लिखा है. (File Photo)

Bihar Politics: राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़ने के बाद आरसीपी सिंह ने JDU नेताओं और कार्यकर्ताओं को भावुकता भरा पत्र लिखा है. पत्र के जरिये बताई पार्टी के प्रति अपनी निष्ठा.

  • Share this:

पटना. JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद ललन सिंह ने सम्भाल लिया है. उन्होंने आरसीपी सिंह के केंद्र में मंत्री बनने के बाद अध्यक्ष पद छोड़ने से ख़ाली हुए पद की  कमान सम्भाली है. ललन सिंह के अध्यक्ष बनने के  बाद आरसीपी सिंह ने ललन सिंह को ना सिर्फ़ बधाई दी बल्कि ये उम्मीद भी जताई की ललन सिंह JDU को उसके पुराने गौरव को फिर से पाने में कामयाब होंगे.

आरसीपी सिंह ने जब राष्ट्रीय अध्यक्ष का  पद छोड़ा तो उन्होंने JDU के तमाम नेताओं और कार्यकर्ताओं को एक भावुक पत्र लिख JDU के प्रति अपनी ना सिर्फ़  निष्ठा जताई. साथ ही JDU और नीतीश कुमार के प्रति अपने गहरे रिश्ते को भी बताने की कोशिश की.

आरसीपी सिंह ने पत्र में क्या लिखा, पढ़िए पूरा पत्र…

प्रिय साथियों,
जदयू मेरे लिए पार्टी मात्र नहीं बल्कि यह मेरे लिए जीवन का पर्याय बन चुकी है. सुबह उठने से लेकर रात सोने तक मेरी हर सांस पार्टी और पार्टी के साथियों से जुड़ी होती है. लेकिन दल हो या जीवन – हमारी और आपकी भूमिका समय-समय पर बदलती रहती है. बदलाव जीवन और प्रकृति का नियम है, जिसे हम बदल नहीं सकते. लेकिन जो हमारे हाथ में है और जिसकी बाद में चर्चा होती है, वो यह कि हमने अपनी जिम्मेदारी कितनी खूबसूरती और शिद्दत से निभाई. पार्टी ने मुझे जब जो जिम्मेदारी दी, उसे मैंने अपना सौ प्रतिशत दिया और अपनी सम्पूर्ण ऊर्जा और चेतना दल को आगे बढ़ाने में लगाई. हमारे नेता का सिर हमेशा ऊंचा रहे और उनका काम सरजमीन तक पहुंचे, हमेशा पूरी तत्परता से इस कोशिश में लगा रहा.

और मुझे कहने में कोई संकोच नहीं कि मेरे हर काम की सफलता के मूल में आप सभी का विश्वास और साथ रहा है. मेरी हर उपलब्धि में आप सभी बराबर के साझेदार हैं और हमेशा रहेंगे. राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में अपने संक्षिप्त कार्यकाल में और वो भी कोरोना के साये में रहते हुए मैंने दल को नई मजबूती और मुकाम देने की हरसंभव कोशिश की. अब इस दायित्व को आदरणीय ललन बाबू आगे बढ़ाएंगे, मुझे इसमें कोई संदेह नहीं. अपने दल के लिए और आप सबके लिए मैं जैसे उपलब्ध था, वैसे ही रहूंगा. आजीवन, अविराम।अपने साथ, सहयोग और स्नेह के लिए मेरा आभार और प्रणाम स्वीकार करें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज