लाइव टीवी

बिहार: Corona Crisis के बीच क्यों हटाए गए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार? पढ़ें Inside Story
Patna News in Hindi

Vijay jha | News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 3:58 PM IST
बिहार: Corona Crisis के बीच क्यों हटाए गए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार? पढ़ें Inside Story
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार का ट्रांसफर

खास बात ये है कि संजय कुमार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) के विश्वासी अधिकारी भी माने जाते रहे हैं. तब आखिर क्या हुआ कि अचानक उनका तबादला कर दिया गया ?

  • Share this:
पटना. बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1579 तक पहुंच गई है. इस बात की जानकारी बिहार स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार (Sanjay Kumar, Principal Secretary, Health Department) ने करीब 10 बजे दी थी. इसके एक घंटे बाद यानी करीब 11 बजे जिलावार कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) की संख्या भी उन्होंने शेयर की थी. लेकिन, तकरीबन एक बजे सामान्य प्रशासन विभाग के एक नोटिफिकेशन के जरिये खबर आई कि उनका तबादला कर दिया गया है. उन्हें पर्यटन विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है. खबर ये भी आई कि उनके स्थान पर आइएएस अधिकारी उदय सिंह कुमावत (Uday Singh Kumawat) स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव नियुक्त किए गए हैं. जाहिर है कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच बिहार सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है. अब सवाल उठता है कि आखिर क्या ऐसा हुआ जो अचानक उन्हें स्वास्थ्य विभाग से हटाया गया.

CM नीतीश कुमार के करीबी माने जाते हैं संजय कुमार

बता दें कि मूल रूप से बिहार के ही रोहतास जिले के निवासी संजय कुमार 1990 बैच के आइएएस हैं और बेहद ईमानदार और तेज तर्रार अफसर के तौर उनकी पहचान रही है. वर्ष 2018 से पहले ये झारखंड में सीएम के प्रधान सचिव के पद पर थे. इसी वर्ष बिहार पहुंचने पर इन्हें स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव की जिम्मेवारी दी गयी. बाद में इन्हें कैबिनेट सचिव की भी जिम्मेवारी मिली थी. सबसे खास बात ये है कि संजय कुमार मुख्यमंत्री नीतीश के विश्वासी अधिकारी भी माने जाते रहे हैं. तब आखिर क्या हुआ कि अचानक उनका तबादला कर दिया गया ?



बीजेपी के मंत्री से नहीं बैठ रही थी तालमेल!



बहरहाल संजय कुमार का तबादला किन परिस्थितियों में किया गया है यह फिलहाल पूरी तरह साफ नहीं हुआ है. लेकिन, सरकार के भीतर पैठ रखने वाले सूत्रों से खबर है कि संजय कुमार की बिहार सरकार के एक मंत्री से तालमेल नहीं बैठ रहा था. कहा तो ये भी जा रहा है कि बीजेपी के इस मंत्री ने मंगलवार की रात सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात भी की थी.

सीएम नीतीश ने दबाव में लिया फैसला?

सूत्र तो ये भी बताते हैं कि सीएम नीतीश कुमार के साथ मुलाकात के बाद ही संजय कुमार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव पद से हटाने का फैसला कर लिया गया. हालांकि सूत्र ये भी बताते हैं कि हाल में क्वारंटाइन सेंटरों में सामने आई कुव्यवस्था और प्रवासी मजदूरों का लगातार संक्रमित पाया जाना भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकता है, लेकिन बीजेपी कोटे के उक्त मंत्री से तालमेल नहीं बैठना एक बड़ी वजह है.

कोरोना मामले में सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव थे

बता दें कि कोरोना महामारी के बीच लगातार सोशल मीडिया के जरिए तमाम आंकड़े शेयर कर रहे थे, लेकिन अचानक से सरकार ने स्वास्थ्य विभाग से उन्हें हटाते हुए पर्यटन विभाग में पोस्टिंग दे दी है. संजय कुमार राज्य परामर्श दात्री समिति के सदस्य सचिव के तौर पर अतिरिक्त प्रभार में बने रहेंगे.

उदय  सिंह कुमावत को मिली नई जिम्मेवारी

जबकि स्वास्थ विभाग के प्रधान सचिव बनाए गए उदय सिंह कुमावत महानिदेशक बिहार लोक प्रशासन एवं ग्रामीण विकास संस्थान के अतिरिक्त प्रभार में बने रहेंगे. हालांकि उदय सिंह कुमावत को जांच आयुक्त सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त प्रभार से मुक्त कर दिया गया है.

उदय सिंह कुमावत 1993 बैच के आईएएस हैं और अभी ये पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव के पद पर थे.
इससे पहले ये परिवहन विभाग में भी प्रधान सचिव रह चुके हैं. साथ ही राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक के पद पर भी रह चुके हैं. ये भी कहा जा रहा है कि तजुर्बा और सीनियरिटी के आधार पर माना जा रहा है कि कुमावत को कोरोना संकट के बीच नई जिम्मेदारी दी गयी है.

ये भी पढ़ें
First published: May 20, 2020, 3:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading