लाइव टीवी

हटाया गया तेजस्वी यादव की दीवार की तरफ लगा सीसीटीवी कैमरा, लगाया था जासूसी का आरोप
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: November 20, 2018, 8:06 PM IST
हटाया गया तेजस्वी यादव की दीवार की तरफ लगा सीसीटीवी कैमरा, लगाया था जासूसी का आरोप
तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जासूसी कराने का आरोप लगाया था. उन्होंने 15 नवंबर को ट्वीट कर ये दावा किया था कि उनके सरकारी आवास 5, देशरत्न मार्ग पर नजर रखी जा रही है.

तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जासूसी कराने का आरोप लगाया था. उन्होंने 15 नवंबर को ट्वीट कर ये दावा किया था कि उनके सरकारी आवास 5, देशरत्न मार्ग पर नजर रखी जा रही है.

  • Share this:
बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव की दीवार की तरफ लगा सीसीटीवी कैमरा हटा लिया गया है. बताया जा रहा है कि सरकार के आदेश के बाद ये फैसला लिया गया. आपको बता दें कि ADG मुख्यालाय एस के सिंघल और IG बच्चू सिंह मीणा ने पहले ही इस मामले में सफाई दी थी कि ये कैमरे चालू नहीं हैं. बहरहाल इस फैसले के बाद बिहार की सियासत में एक बार फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू होने की संभावना है.

आपको बता दें कि बीते 15 नवंबर को तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जासूसी कराने का आरोप लगाया था. उन्होंने ट्वीट कर ये दावा किया था कि उनके सरकारी आवास 5, देशरत्न मार्ग पर नजर रखी जा रही है. हालांकि जेडीयू ने पलटवार करते हुए कहा था कि आरजेडी अपराधियों की पार्टी है इसलिए उन्हें पकड़े जाने का डर है. हालांकि जेडीयू ने यह भी कहा था कि ये मुख्यमंत्री की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लगाए गए हैं.

दरअसल तेजस्वी ने मुख्यमंत्री आवास पर लगे सीसीटीवी कैमरों की तस्वीर शेयर करते दावा किया था कि ये कैमरे उनके घर की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए लगाए गए हैं.


तेजस्वी यादव ने इसके बाद कई ट्वीट किए और एक तस्वीरें भी साझा की थीं. इसमें साफ तौर पर दिख रहा है कि उनके सरकारी आवास से लगे मुख्यमंत्री आवास के दीवार के ऊपर एक सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है.
बताया जा रहा है कि ये मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा के लिए लगाया गया है. तेजस्वी ने आरोप लगाया था कि इतनी ऊंचाई पर सीसीटीवी कैमरे लगाना केवल उनके सरकारी आवास पर नजर रखना है.
तेजस्वी ने आरोप लगाते हुए कहा था कि नीतीश कुमार ने जानबूझकर अपने आवास में उस जगह ही कैमरा लगवाया है जहां से वह उनके आवास पर नजर रख सकें.
तेजस्वी ने लिखा, ‘क्या नीतीश जी अपनी सुरक्षा को लेकर इतने ज्यादा डरे हुए हैं, जो उन्होंने उनके और मेरे घर के बीच की बाउन्ड्री वॉल पर सीसीटीवी कैमरा लगवा रखा है, ताकि वह मेरे घर की जासूसी कर सकें?’



तेजस्वी ने सवाल करते हुए लिखा, ‘आखिर, मुख्यमंत्री को वहां कैमरा लगवाने की जरूरत क्यों पड़ी, जहां स्थायी तौर पर सिक्योरिटी चेक पोस्ट है?’

तेजस्वी यादव ने एक तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि, 'सीएम आवास तीन तरफ से मेन रोड से घिरा हुआ है. नेता प्रतिपक्ष का घर चौथे साइड है. लेकिन सीएम सिर्फ अपने राजनीतिक विरोधी के घर की तरफ सीसीटीवी लगाने की आवश्यकता समझ रहे हैं?' तेजस्वी ने यह भी लिखा, ‘किसी को उन्हें बताना चाहिए कि उनकी यह तुच्छ चाल व्यर्थ साबित होगी.’

तेजस्वी ने लिखा, ‘बिहार सरकार जब भी जरूरत होती है तो पहले से ही जेड सिक्योरिटी प्राप्त मुख्यमंत्री की सुरक्षा पुख्ता करती है. यहां तक कि उनका आवास हाई सिक्योरिटी जोन में है. फिर भी क्या हाई रिजॉल्यूशन वाले एचडी सीसीटीवी कैमरे लगवाकर पड़ोसी की निजता में दखल देना और उनकी जासूसी करना सही है?’

तेजस्वी ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘अगर बाकी पूरे राज्य को छोड़ भी दें तो भी हर गुजरते सेकेंड के साथ पटना क्षेत्र में जघन्य अपराधों को अंजाम दिया जा रहा है. लेकिन निरंकुश और असुरक्षित मुख्यमंत्री को जनता की सुरक्षा से के बजाय विपक्षियों की दैनिक गतिविधियों की जासूसी और उनकी निजता में दखल देने की ज्यादा चिंता है.’



बिहार की राजनीति कभी आवास पर तो कभी CCTV कैमरे को लेकर अक्सर गर्माती रही है. बहरहाल अभी ये देखना बाकी है कि आने वाले समय में तेजस्वी के आरोप और सवाल आने वाली राजनीति को कैसी शक्ल देते हैं.

(इनपुट- अमित कुमार)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2018, 8:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading