लाइव टीवी

सरकारी कर्मचारियों को CM नीतीश दे सकते हैं बड़ा 'गिफ्ट', ये है वजह

Anand Amrit Raj | News18 Bihar
Updated: November 12, 2019, 2:17 PM IST
सरकारी कर्मचारियों को CM नीतीश दे सकते हैं बड़ा 'गिफ्ट', ये है वजह
नीतीश कुमार रिटायरमेंट की उम्र को लेकर कर सकते हैं ये ऐलान.

बिहार में 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) से पहले मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Ministers Nitish Kumar) सरकारी कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र 60 साल से बढ़ा सकते हैं.

  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के पहले मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Ministers Nitish Kumar) ने बड़ा सियासी शिगूफा छोड़ा है यानी उन्‍होंने एक बड़े वोट बैंक को साधने की कोशिश शुरू कर दी है. देश के पहले शिक्षा मंत्री भारत रत्न मौलाना अबुल कलाम आजाद (Maulana Abul Kalam Azad) के जयंती समारोह के मौके पर बिहार सरकार की तरफ से आयोजित शिक्षा दिवस कार्यक्रम के मौके पर शिक्षकों और हॉल में बैठे सरकारी कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए सीएम ने दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) के साथ एक वाक़ये का ज़िक्र करते हुए कहा कि जब हम वाजपेयी के साथ काम कर रहे थे तब एक ज़िक्र आया.रिटायरमेंट के बाद भी लोगों में काम करने की ताकत और हसरत दोनों रहती है. इस बात के कुछ दिन बाद ही रिटायरमेंट की उम्र 58 से बढ़ा कर 60 साल कर दी गई. जबकि अपने इस बयान से नीतीश कुमार ने इशारों-इशारों में ही केंद्र सरकार से मांग कर दी है कि रिटायरमेंट की उम्र बढ़नी चाहिए.

शिक्षाविद प्रेम वर्मा ने कही ये बात
दरअसल ये पूरा वाक़या तब सामने आया जब शिक्षा दिवस के मौके पर सम्मानित शिक्षाविद प्रेम वर्मा ने जो मुम्बई के रिटायर इनकम टैक्‍स कमिश्नर रह चुके हैं और हाल फिलहाल रिटायरमेंट के बाद बिहार में शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे हैं. उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए लोगों से मांग की कि रिटायरमेंट के बाद भी लोगों में काम करने की ताकत और क्षमता दोनों होती है, लि‍हाजा रिटायर लोग उनके साथ इस मिशन में जुड़े.

नीतीश ने इशारों में कही ये बात

इसके बाद बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने बोलते हुए इशारों में बड़ा रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने का बयान दिया है. हालांकि उनके बयान को चुनाव के पहले वोट बैंक को साधने की कोशिश के रूप में माना जा रहा है. बिहार में इस वक़्त लगभग दो लाख 50 हजार के आसपास सरकारी कर्मचारी हैं. इसमें से काफी रिटायर भी होने वाले हैं. वैसे तो नीतीश कुमार अपने राज्य में सरकारी कर्मचारी की उम्र बढ़ा सकते हैं, लेकिन बिहार सरकार के ख़ज़ाने के ऊपर बोझ काफ़ी बढ़ जाएगा. इसलिए उन्‍होंने केंद्र सरकार से आग्रह किया है. लिहाजा अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और ऐसे में नीतीश कुमार सरकारी कर्मचारियों की उम्र बढ़ाने का ऐलान कर दें, तो कोई आश्चर्य की बात नहीं है. आखिर बिहार में सरकारी कर्मचारियों की संख्या और उनसे जुड़े लोगों का एक बड़ा वोट बैंक है, जिसे वह साधने की कोशिश कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

चिराग पासवान के निशाने पर मांझी-तेजस्वी, एक को दी नसीहत तो दूजे पर कसा तंज
Loading...

तमतमाए जीतन राम मांझी ने महागठबंधन को दिया दिसंबर तक का अल्टीमेटम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 9:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...